सतासीवम बने सुप्रीमकोर्ट के चालीसवें मुख्यन्यायाधीश

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को जस्टिस पी. सतासीवम को भारत के मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ दिलाई.

चीफ जस्टिस सतासीवम

चीफ जस्टिस सतासीवम

जस्टिस सतासीवम भारत के 40वें और तमिलनाडु से पहले मुख्य न्यायाधीश हैं. वह 26 अप्रैल, 2014 तक इस पद पर बने रहेंगे.
मौजूदा मुख्यन्यायाधीश अलतमस कबीर अब रिटायर कर गये हैं. 64 साल के सतासीवम ने उनका स्थान लिया है.

शपथग्रहण राष्ट्रपति भवन में आयोजित किया गया था. इस समारोह में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज, राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली समेत कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे.

जस्टिस सतशिवम तमिलनाडु के पहले न्यायाधीश हैं जिन्होंने देश के मुख्य न्यायाधीश का पद ग्रहण किया है. वह अगस्त 2007 में पदोन्नत होकर सुप्रीम कोर्ट के जज बने थे. सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के रूप में सतशिवम द्वारा सर्वाधिक चर्चित और महत्वपूर्ण निर्णयों में मुंबई बम कांड के निर्णय और प्राकृतिक गैस के बंटवारे को लेकर अंबानी बंधुओं के बीच विवाद के निर्णय प्रमुख हैं.

सतशिवम ने वकालत की शुरूआत जुलाई 1976 में मद्रास हाई कोर्ट से शुरू की थी. उन्होंने जनवरी 1996 में न्यायाधीश की कुर्सी संभाली.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*