पूरे दम-खम में ओवैसी: बिहार की गलती से सबक ले कर यूपी चुनाव में कूदने को तैयार

लखनऊ के एक कार्यक्रम में असदुद्दीन ओवैसी ने चुन-चुन कर सपा, बसपा, कांग्रेस और भाजपा पर ताबड़तोड़ हमला कर जता दिया है कि वह बिहार वाली गलती यूपी में नहीं दुहरायेंगे.owaisi

परवेज आलम, लखनऊ से

बिहार विधानसभा चुनाव में ओवैसी की पार्टी मजिलिस इत्तेहादुल मुस्लेमीन भी चुनाव में उतरी थी. तब चुनाव लड़ने के उनके ऐलान के बाद भाजपा छोड़ तमाम पार्टियों में खलबली मच गयी थी.  लेकिन चुनाव हुए तो उनकी पार्टी एक भी सीट नहीं जीत सकी थी. दर असल उस चुनाव के दौरान जदयू-राजद ने उन्हें  भाजपा से सांठगांठ का ऐसा आरोप मढ़ा था जिसकी उम्मीद ओवैसी कर नहीं रहे थे.

महागठबंधन अंदर ही अंदर ओवैसी से बौखलाया हुआ था इसलिए उसने पूरी कोशिश की कि बिहार में ओवैसी की पार्टी को मुसलमान वोट न दें.  इन आरोपों का असर भी पड़ा और नतीजा यह हुआ कि उनकी पार्टी एक भी सीट नहीं जीत सकी. तब जद यू के प्रवक्ता अजय आलोक ने सीधा आरोप मढ़ा था कि भाजपा से ओवैसी ने करोड़ों रुपये लिये है.

जब जदयू प्रवक्ता की धज्जी उड़ाई

हालांकि एक कार्यक्रम में ओवैसी ने आलोक को इस मामले में इतना लताड़ा था कि आलोक की बोलती बंद हो गयी थी. आलोक से उन्होंने कहा कि कहां हैं वो करोड़ो रुपये मुझे बताओ नहीं तो हैदराबाद की अदालत तक उन्हें घसीटेंगे. इन तमाम बातों के बावजूदत तब तक काफी देर हो चुकी थी.

 

इस लिए ओवैसी यूपी में अपनी वह भूल नहीं दोहराना चाहते. वह जब विरोधियों पर हमला बोल रहे हैं तो उनके निशाने पर पहले सपा का नाम आता है तो दूसरे पल वह भाजपा को नहीं बख्श रहे हैं. वह तमाम दलों पर हमला करना कर रहे है.

लखनऊ में गरजे ओवैसी

शनिवार को लखनऊ में ‘जय भीम और जय मीम’ के नारे के साथ ही ओवैसी के निशाने पर यूपी की कानून व्यवस्था रही, मथुरा, बुलंदशहर और बहराइच की घटनाओं का जिक्र करते हुए अखिलेश सरकार पर हमला बोला। उन्होंने सभी राजनीतिक दलों पर मुसलमानों को ठगकर 70 सालों तक वोट बटोरने का आरोप लगाया।

 

ओवैसी के भाषण कार्यक्रम का आयोजन इन्दिरा नगर के कन्वेंशन सेंटर में किया गया जहां हजारों समर्थक उनके भाषण का इंतजार कर रहे थे।ओवैसी ने सभी राजनीतिक दलों पर मुसलमानों को ठगकर 70 सालों तक वोट बटोरने का आरोप लगाया।

 

ओवैसी ने कहा कि यूपी में 19 फीसदी मुलसमानों की आबादी है, लेकिन जेल में 30 फीसदी कैदी मुस्लिम हैं।

मुसलमान और दलित पर दाव

ओवैसी ने कहा कि हमें कम्युनल पार्टी कहा जाता है, ये हमपर इल्जाम है। कांग्रेस, बीजेपी, समाजवादी और बसपा हमें कम्युनल कहते हैं, लोग ये तय करें कि इनमें से सेकुलर कौन है?

इस दौरान ओवैसी ने संघ को भी नहीं बख्शा और कहा कि संघ गाय के मामले पर दोहरा रवैया अपनाता है. वह जो बेल्ट और जूते पहनते हैं तो वो बतायें कि ये किस जानवर के चमडे का है. उन्होंने कहा कि संघ परिवार के लोग इन्सुलिन लेना बंद करे, क्योंकि ये जानवर के लीवर से बनता है।

ओवैसी कांग्रेस की कार्यकाल पर भी प्रहार किया और कहा कि देश में कुल साक्षारता दर 74 प्रतिशत है जबकि मुसलमानों की साक्षरता मात्र 68 प्रतिशत है. ऐसा इसलिए हुआ कि मुसलमानों के इलाके में स्कूल नहीं खोले गये, हां उनके मुहल्लों में पुलिस स्टेशन जरूर बनाये गये.

ओवैसी ने भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि यूपी की जेलों में 20 हजार युवा बंद है लेकिन उनकी जमानत नहीं हो पा रही है, ऐसे में मैं जब जेल में बंद युवाओं की मदद की बात करता हूं तो भाजपा वाले मुझ पर आतंकवादियों की हिमायत करने वाला कहती है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*