पूर्णिया विश्वविद्यालय के लिए 37 एकड़ जमीन हस्तांतरित

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज कहा कि जब तक युवा पीढ़ी शिक्षित नहीं होगी तब विकास फलित नहीं होगा। श्री कुमार ने पूर्णिया विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन, बास्केट बॉल, सिंथेटिक कोर्ट, सेमिनार हॉल, बैडमिंटन कोर्ट के लोकार्पण के साथ ही विश्वविद्यालय परिसर की चहारदीवारी एवं सौंदर्यीकरण कार्य का शुभारंभ करने के बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुये कहा कि जब तक युवा पीढ़ी शिक्षित नहीं होगी तब विकास फलित नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि पूर्णिया विश्वविद्यालय के लिए 37 एकड़ जमीन हस्तांतरित कर दी गयी है। इसके अलावा जमीन की और आवश्यकता पड़ेगी तो इसकी व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा, “हम चाहते हैं कि पूर्णिया एक आदर्श विश्वविद्यालय बने। इसके लिए जिन संसाधनों और जितनी धनराशि की जरूरत पड़ेगी, राज्य सरकार मुहैया कराएगी।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिए जमीन की मांग पूर्णिया प्रमंडल में की गई थी, जिसे उपलब्ध कराया गया। पूर्व राष्ट्रपति डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम के नाम पर कृषि महाविद्यालय शुरू किया जा रहा है। पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के तहत फिशरीज महाविद्यालय की स्थापना किशनगंज में की जा रही है। उन्होंने कहा कि पूर्णिया मेडिकल सेंटर रहा है और यहां मेडिकल कॉलेज की स्थापना के लिए टेंडर भी हो चुका है। उन्होंने कहा कि न्याय के साथ विकास के प्रति उनकी प्रतिबद्धता है। हर तबके और हर इलाके का विकास हो, इसके लिए उनकी सरकार की योजनाएं सार्वभौमिक होती हैं ताकि विकास का लाभ हर व्यक्ति तक पहुंचे।

श्री कुमार ने कहा कि पाचवीं कक्षा के बाद राज्य की लड़कियां स्कूल कम जाती थीं, जिसे देखते हुए कक्षा एक से दस तक छात्र एवं छात्राओं दोनों के लिए पोशाक योजना की शुरुआत की गई। छात्राओं को 12वीं कक्षा तक पोशाक उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक पंचायत में एक उच्च विद्यालय खोलने का फैसला किया गया और अब तक ऐसे 1200 से अधिक विद्यालयों की मंजूरी दे दी गई है। पोशाक योजना के बाद साइकिल योजना की शुरुआत की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*