पूर्व मंत्री रमई राम और अर्जुन राय पर गिरी गाज, निलंबित

बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड ने आज पूर्व मंत्री रमई राम और अर्जुन राय  समेत 21  नेताओं को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने के कारण दल की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। 

जदयू के प्रदेश महासचिव अनिल कुमार ने बताया कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने रमई राम और सीतामढ़ी के पूर्व सांसद अर्जुन राय समेत 21 नेताओं को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। उन्होंने बताया कि श्री राम और श्री राय के अलावा पूर्व विधायक राजकिशोर सिन्हा, पूर्व विधान पार्षद विजय वर्मा (मधेपुरा),  सहरसा के जदयू के जिलाध्यक्ष धनिकलाल मुखिया को निलंबित किया गया है।
श्री कुमार ने बताया कि इन नेताओं के अलावा पूर्व जिलाध्यक्ष, मधेपुरा (राज्य परिषद सदस्य) सियाराम यादव,  पूर्व प्रदेश अध्यक्ष, जदयू श्रमिक प्रकोष्ठ विन्देश्वरी सिंह, राज्य परिषद सदस्य, मुजफ्फरपुर इसराईल मंसूरी, जिलाध्यक्ष, तकनीकी प्रकोष्ठ मिथलेश कुशवाहा, राज्य परिषद सदस्य, गायघाट, मुजफ्फरपुर निरंजन राय, दरभंगा के देवकांत राय, जिला अध्यक्ष व्यवसायिक प्रकोष्ठ मधुबनी टिन्कु कसेरा, प्रखण्ड अध्यक्ष-सोनबरसा जयकुमार सिंह, प्रखण्ड अध्यक्ष कहरा धीरेन्द्र यादव, व्यवसायिक प्रकोष्ठ उदयचन्द्र साहा, प्रखण्ड अध्यक्ष-बिहारीगंज विरेन्द्र आजाद, प्रखण्ड अध्यक्ष सत्तर कटैया सुरेश यादव, प्रखण्ड अध्यक्ष सौर बाजार विजेन्द्र यादव, किसान प्रकोष्ठ, मधेपुरा रमण सिंह, अध्यक्ष मधेपुरा नगर परिषद कमल दास और जिला परिषद उपाध्यक्ष, सीतामढ़ी देवेन्द्र साह को भी निलंबित किया गया है।
गौरतलब है कि बिहार में राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस से गठबंधन तोड़कर भारतीय जनता पार्टी के साथ सरकार बनाने के श्री नीतीश कुमार के फैसले के बाद से जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव बागी हो गये हैं। पार्टी ने 11 अगस्त को राज्यसभा के सदस्य अली अनवर को पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने के कारण निलंबित कर दिया था। इसके दूसरे दिन ही श्री शरद यादव को राज्यसभा में पार्टी के नेता पद से हटाकर उनके स्थान पर श्री आर. सी. पी. सिंह को नेता बना दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*