प्रेस की आजादी:पटना की सड़कों पर उतरेंगे पत्रकार

ऐसे समय में जब प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया की जांच रिपोर्ट में भी माना गया है कि बिहार में पत्रकारिता खतरे में है और सरकार ने स्वतंत्र पत्रकारिता पर सेंसर लगा रखा है, “बिहार प्रेस फ्रीडम मूवमेंट” ने 14 फरवरी को पटना के गांधी मैदान(जेपी गोलम्बर) से प्रेस फ्रीडम मार्च का आयोजन किया है.

दिन के एक बजे यह मार्च गांधी मैदान के जेपी गोलम्बर से निकल कर डाकबंगला चौराहा पहुंचेगा.

प्रेस फ्रीडम मार्च के प्रवक्ता ने बताया है कि कल(गुरूवार) पटना के पत्रकार पत्रकारिता पर आये खतरे के खिलाफ मार्च पर निकलेंगे और राज्य सरकार से मांग करेंगे कि वह प्रेस को गुलाम बनाने की प्रवृत्ति से बाज आये.

ये भी पढ़ें-खतरे में है बिहार की पत्रकारिता

रिपोर्ट में कहा गया है कि विज्ञापन के लोभ में मीडिया संस्थानों को राज्य सरकार ने बुरी तरह अपने चंगुल में जकड़ रखा है जिसके कारण पत्रकारों को स्वतंत्र और निषपक्ष खबर लिखना संभव नहीं हो पा रहा है.

यहां तक कि इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि बिहार में पत्रकारिता खतरे में है.

बिहार प्रेस फ्रीडम मूवमेंट पिछले एक साल से प्रेस की स्वतंत्रता के पक्ष में समय समय पर आवाज उठाता रहा है.

मूवमेंट के प्रवक्ता ने तमाम बुद्धिजीवियों, सामाजिक कार्यकर्ता, राज्य के बारे में चिंतित रहने वाले लोगों और विसेष कर पत्रकारों से आग्रह किया है कि वे इस मार्च में शामिल होकर सरकार पर दबाव बनायें ताकि हमारी अभिव्यक्ति की आजादी और लोकतांत्रिक अधिकारों की सुरक्षा हो सके.

इस खबर पर एक पत्रकार टिप्पणी

बेशक, यही हाल है। पर दूसरों की आवाज बनने वाले पत्रकार कभी अपनी आवाज न बन सके और न ही बन पाएंगे। आज की पत्रकारिता एक पत्रकार के लिए परिवार की रोजी-रोटी का माध्‍यम है। जब हकीकत यह हो तो कल का सच यह भी है कि जेपी गोलंबर पर प्रेस फ्रीडम मार्च होगा लेकिन पत्रकार खुल कर सामने नहीं आ सकेंगे. जो होगे वह भी खामोशी से चेहरा छिपाते पिफरेंगे।

अफसोस के साथ इस बात की चिंता भी कि आखिर अपने हक के लिए कब एकजुट होगा पत्रकार। या हमेशा मीडिया प्रबंधन की कठपुतली बना रहेगा। घुटन होती है अब। मूवमेंट जरूरी है। वरना, बांदी बनी पत्रकारिता अब रखैल बनने को चौराहे पर तैयार खडी है। कोई तो आगे आए और दामिनी रूपी पत्रकारिता की आबरू की हिफाजत करे।——-एक पत्रकार, नाम व पता इसलिए नहीं कि रोजीरोटी का सवाल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*