बिहार में ज्‍यादा प्रभावी नीतीश कुमार या नरेंद्र मोदी, बताएं सुमो

जैसे – जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, देश का राजनीतिक पारा चढ़ने लगा है. इसमें जहां एक ओर एनडीए में सीटों को लेकर घमासान मचा हुआ है, वहीं दूसरी ओर विपक्ष भी एनडीए को लगातार निशाने पर ले रही है. इसी क्रम में लगे हाथ आज राजद नेता तेजस्‍वी यादव ने बिहार के उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी से पूछा कि वे बताएं कि क्या नीतीश जी बिहार में नरेंद्र मोदी से बड़े व ज़्यादा प्रभावशाली नेता है?

नौकरशाही डेस्‍क

तेजस्‍वी ने ट्विट कर सुशील मोदी को घेरा. उन्‍होंने अपने ट्विट में लिखा कि ‘सुशील मोदी बतायें क्या नीतीश जी बिहार में नरेंद्र मोदी से बड़े व ज़्यादा प्रभावशाली नेता है? नीतीश जी के प्रवक्ता सुशील मोदी क्या अब भी JDU के हाथों अपने सबसे बड़े नेता को बेइज़्ज़त कराते रहेंगे? नीतीश जी ने कहा था उन्होंने सुशील मोदी के कहने से भोज से मोदी जी की थाली खींची थी.’

इस पर सुशील मोदी ने भी पलटवार किया और अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि ‘चारा घोटाला में सजायाफ्ता होने के कारण चुनाव लड़ने के अयोग्य करार दिये गए लालू प्रसाद ने भले ही जहर का घूंट पीकर 2015 में नीतीश कुमार को महागठबंधन का नेता माना हो, लेकिन 17 साल आजमायी हुई भाजपा-जदयू की स्वाभाविक दोस्ती में न ऐसी कोई मजबूरी है, न सीटों के तालमेल में कोई मुश्किल होने वाली है.’

इसके जवाब में भी तेजस्‍वी ने एक ट्विट किया और लिखा कि ‘सुशील मोदी बतायें जब 2013 मे नीतीश कुमार ने BJP को दूध में मक्खी की तरह निकालकर गंगा में फेंका था. तब क्या 17 साल के इन सहयोगियों के दिल और दल नहीं मिले थे या दाल नहीं गली थी? जो अब मिलेंगे बिहार के विकास की कहीं कोई चर्चा नहीं कर रहा? इन अवसरवादियों ने बिहार का सत्यानाश कर दिया.

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*