भाजपा के सबसे कद्दावर नेता अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर किसने क्या कहा

आज शाम 5 बज कर 5 मिनट पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की मृत्यु की औपचारिक घोषणा एम्स ने आधिकारिक रूप में कर दी. उनकी मृत्यु के बाद देश के नेताओं ने उनके प्रति कैसे संवेदना व्यक्त की आप भी जानिये.

नही रहे अटल बिहारी

लाल कृष्ण आडवाणी– अटलजी के साथ लम्बे समय तक काम करने का अनुभव रहा. सबसे बड़ी बात यह है कि उनसे मेरी 65 वर्षों की मित्रता थी. वह हमेशा हमारे दिल में रहेंगे.

नरेंद्र मोदी– उन्होंने अपना पूरा जीवन राष्ट्र के लिए समर्पित कर दिया.

राहुल गांधी– भारत ने अपना सपूत खो दिया है. वह लाखों लोगों के प्यारे थे और सम्मानित थे.

अहमद पटेल कांग्रेस – वाजपेयी जी की मृत्यु देश के लिए एक बड़ी क्षति है. वह अपने जमीर की आवाज सुनते थे. उन्हें लोकतांत्रिक मूल्यों में पूरा विश्वास था. उन्होंने अपने जीवन में यह साबित कर दिखाया कि तमाम मतभिन्नता के बावजूद आपस में सौहार्द बिठाया जा सकता है.

नीतीश कुमार
 
भारत के पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी जी का निधन दुःखद। देश ने सबसे बड़े राजनीतिक शख्सियत, प्रखर वक्ता, लेखक, चिंतक, अभिभावक एवं करिश्माई व्यक्तित्व को खो दिया। उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि।
 
तेजस्वी यादव
 
जीवन की ढलने लगी सांझ..
उमर घट गई..
डगर कट गई..
जीवन की ढलने लगी सांझ
 
 
सीताराम येचुरी
हालांकि आइडियालोजी के स्तर पर हमारा उनसे बराबर विरोध रहा लेकिन यह भी एक तथ्य है कि अटल बिहारी वाजपेयी का सुंदर स्वभाव उनको सबसे अलग बनाता था
 
 
तेज प्रताप
बिछड़ा कुछ इस अदा से कि रुत ही बदल गई,
इक शख़्स सारे शहर को वीरान कर गया।।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*