भाजपा ने तीसरी बार सौंपा यादव को कमान

भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने आज उजियारपुर के सांसद नित्‍यानंद राय को प्रदेश भाजपा का नया अध्‍यक्ष नियुक्‍त किया है। वे निवर्तमान अध्‍यक्ष मंगल पांडेय का स्‍थान ग्रहण करेंगे। श्री राय का कार्यकाल जनवरी 2018 तक होगा। नित्‍यांनद राय ने विधानसभा चुनाव के दौरान मुजफ्फरपुर में प्रधानमंत्री के लिए आयोजित चुनावी सभा के संचालन का जिम्‍मा भी संभाला था।  bjp-mp

वीरेंद्र यादव

 

नित्‍यानंद हाजीपुर के कर्णपुर गांव के निवासी हैं। वे पहली बार 2000 में हाजीपुर से विधान सभा के लिए निर्वाचित हुए थे। हाजीपुर के विधायक रहते हुए वे़ उजियारपुर से भाजपा के टिकट पर लोकसभा के लिए चुने गए। भाजपा ने मंगल पांडेय के विकल्‍प रूप में नित्‍यानंद राय को चुना है। इसके पीछे की वजह ‘यादव फैक्‍टर’ है। भाजपा के केंद्रीय नेतृत्‍व को अहसास हो गया है कि बिहार की राजनीति में यादव वोटों में सेंधमारी के बगैर बिहार में अकेले सत्‍ता में आना संभव नहीं है। वर्तमान दौर में भाजपा बिहार में ‘सत्‍ता की सहयोगी’ पार्टी बनने को तैयार नहीं है।

 

यादव वोटों में सेंधमारी की चुनौती

नित्‍यांदन बिहार के तीसरे यादव प्रदेश अध्‍यक्ष बने हैं। इससे जगदंबी प्रसाद यादव और नंद किशोर यादव प्रदेश भाजपा की कमान संभाल चुके हैं। तीनों अध्‍यक्षों के कार्यकाल में सामाजिक और राजनीतिक बनावट अलग-अलग रही है। नित्‍यानंद राय उस दौर में प्रदेश अध्‍यक्ष बने हैं, जब केंद्र में भाजपा की सरकार है। बिहार में भाजपा प्रमुख विपक्षी पार्टी है। यादव वोटों का झुकाव लालू यादव के साथ है। वैसी स्थिति में यादव वोटों में सेंधमारी के लिए भाजपा कौन सी रणनीति अपनाती है, यह समय बताएगा। लेकिन नित्‍यानंद राय की सफलता ‘यादव वोटों में सेंधमारी’ से ही आंकी जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*