भारतीय इकॉनोमी में एक तिहाई काला धन:सुशील मोदी

बिहार सरकार के वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी ने पूरी सहजता से एक कड़वी सच्चाई को स्वीकार कर लिया है.उन्होंने कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में 30 प्रतिशत या इससे भी कुछ ज्यादा काला धन है.

एक मंत्री के रूप में यह स्वीकारोक्ति जहां एक कड़वा सच को कुबूल कर लेने जैसा है वहीं यह सरकार के कार्यकुशलता पर भी सवाल खड़े करती है.

मोदी ने पटना मंगलवार को फिक्की (फेडरेशन ऑफ इंडियन चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री) की ओर से “अर्थव्यवस्था के लिए नकली और तस्करी के सामान पर रोक” विषय पर आयोजित सेमिनार को संबोधित कर रहे थे.

मोदी ने जहां अर्थव्यवस्था में काले धन की बात स्वीकारी वहीं यह भी कुबूल किया कि बिहार सरकार के पास नकली सामान बिकने से रोकने के लिए कोई तकनीकी व्यवस्था नहीं है.कंपनी की शिकायत पर ही कार्रवाई होती है और लोग पकड़े जाते हैं.हालांकि उदारीकरण के दौर में तस्करी में काफी कमी आई है.लेकिन नकली सामानों में इजाफा हुआ है.

मोदी ने कहा कि नकली सामान की रोकथाम के लिए बेहतर पॉलिसी की बनाने की जरूरत है उन्होंने जोर देते हुए कहा कि बेहतर तकनीकी व्यवस्था से ही नकली सामानों की बिक्री पर रोक लग सकती है.

सेमिनार में वक्ताओं ने बताया कि बिहार में 4 करोड़ से ज्यादा सिगरेट गलत तरीके से एक महीने में बेच दी जाती है. इससे बिहार को टैक्स के रूप में साल में 75 करोड़ रुपए का नुकसान होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*