भारत निवार्चन आयोग ने जनतांत्रिक लोकहित पार्टी को राजनैतिक दल के रूप में किया पंजीकृत

जनतांत्रिक लोकहित पार्टी (जलोपा)को भारत निर्वाचन आयोग, नई दिल्‍ली में तमाम प्रक्रियाओं को बाद गैर मान्‍यता प्राप्‍त राजनैतिक दलराजनैतिक दल के रूप में पंजीकृत कर लिया गया है. इसकी जानकारी देते हुए आज जलोपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह पूर्व विधायक सतीश कुमार और प्रदेश अध्‍यक्ष अनिल कुमार ने पटना स्थित पार्टी कार्यालय में आयोजित संयुक्‍त संवाददाता सम्‍मेलन के दौरान भारत निर्वाचन आयोग का आभार व्‍यक्‍त किया. उन्‍होंने बताया कि पार्टी की पंजीयन संख्‍या – 56/108-2017-17/PPS-1 है, जिसकी सूचना हमें 19 सिंतबर 2017 को रजिस्‍टर्ड डाक से प्राप्‍त हुई.

नौकरशाही डेस्‍क

संवाददाता सम्‍मेलन में श्री कुमार ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार जुमलेबाजी, छद्म राष्‍ट्रवाद, बिना तैयारी के घोषित नोटबंदी और जीएसटी से तबाह दिहाड़ी मजदूर एवं छोटे कारोबारी, देश की गिरती अर्थव्‍यवस्‍था से बढ़ती बेरोजगारी, किसानों की फटेहाली एवं धार्मिक उन्‍माद के खिलाफ संघर्ष का शंखनाद करने वाली सरकार के मकसद को जलोपा कभी पूरी होनी नहीं देगी. साथ ही राज्‍य के सुशासन बाबू के न्‍याय के साथ समावेशी विकास की ढकोसलाबाज नीति, शराबबंदी, दहेजबंदी व विवाहबंदी के प्रवचनकर्ता एवं ढ़लती उम्र में बढ़ती धार्मिक आस्‍था के चलते बढ़ता, अपराध और थमता विकास, घोटालों का होता अंबार के खिलाफ जन जागरण का बिगुल फूंकने के लिए तैयार जलोपा का पंजीयन राष्‍ट्र एवं राज्‍य की राजनीति में मील का पत्‍थर साबित होगा. आने वाले दिनों में राज्‍य में एक विकल्‍प की दिशा में किसानों, नौजवानों एवं कामगारों को  संगठित कर जलोपा आगे बढ़ेगी.

वहीं, प्रदेश अध्‍यक्ष अनिल कुमार ने कहा कि जलोपा को निर्वाचन आयोग द्वारा पंजीयन मिलने के बाद बिहार में दल के कर्तव्‍यनिष्‍ठ साथियों की जिम्‍मेवारी बढ़ चुकी है. राष्‍ट्र के जुमलेबाज सरकार और राज्‍य की निकम्‍मी, ढकोसलेबाज जनमत विरोधी सरकार के खिलाफ हमारा संघर्ष और तेज होगा. साथ ही पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष श्री सतीश कुमार के मार्गदर्शन में सदस्‍यता अभियान में और तेजी लाने का काम किया जायेगा. अब तक 33 जिलों के लगभग 250 प्रखंड में तैयार संगठन द्वारा सदस्‍यता अभियान को रफ्तार दिया जायेगा। हमारा लक्ष्‍य दिसंबर माह तक पांच लाख लोगों को पार्टी का सदस्‍य बनाने की है. जलोपा अन्‍य पार्टी के व्‍यक्तिवादी स्‍वरूप से हट कर किसानों, नौजवानों व कामगारों के लिए विकल्‍प बनने में विश्‍वास रखती है. संवादाता सम्मेलन में उपाध्यक्ष सुनील कुमार, महासचिव अरुण कुमार सिन्हा, महिला अध्यक्ष शमिता शर्मा आदि उपस्थित रहीं.

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*