भारत से गद्दारी और पाकिस्तान की तरफदारी पर 3 साल की जेल, जानिये कौन है ये महिला डिप्लोमेट

भारत से गद्दारी और पाकिस्तान की तरफदारी करने पर मिली 3 साल की जेल, जानिये कौन है ये महिला डिप्लोमेट

माधुरी गुप्ता- मिली देश से गद्दारी की सजा

माधुरी गुप्ता नामक यह महिला भारतीय उच्च आयोग के पाकिस्तानी आफिस से ISI को खुफिया जानकारी देने का मुजरिम दिल्ली की अदालत ने ठहराया है. गुप्ता को तीन साल की कैद की सजा 19 अक्टूबर को सुनाई गयी है।

Also Read- देश का गद्दार रणजीत के सीने में है कई राज 

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सिद्धार्थ शर्मा ने साफ कहा कि  निश्चित तौर पर माधुरी गुप्ता के कद के व्यक्ति से यह उम्मीद की जाती थी कि वह साधारण नागिरक से ज्यादा जिम्मेदार होंगी लेकिन उन्होंने देश के भरोसे को तोड़ा और देश को खतरे में डाला। वह जिस संवेदनशील पद पर थीं उस पद का दुरोपयोग करके उन्होंने देश के साथ धोखा किया।

Also Read-  ISI का एजेंट निकला प्रवीण तोगड़िया का करीबी 

गुप्ता के खिलाफ देश की गोपनीयता कानून और दंड संहिता के तहत सजा सुनाई गयी। मीडिया की खबरों में बताया गया है कि  गुप्ता ने ISI के दो अफसरों जमशेद रजा राणा और मुब्बसिर के सम्पर्क में थीं. उधर ऑल इंडिया रेडियो ने अपने ट्विटर हैंडल से गुप्ता को सजा सुनाये जाने की खबर दी है।

माधुरी के बारे में बताया जा रहा है कि उनका संबंध ISI के अफसर जमशेद रजा राणा से था। बताया तो यहां तक जा रहा है कि माधुरी जमशेद के साथ शादी भी करने वाली थीं।

माधुरी को 2012 में ही गोपनीय कानून के उल्लंघन का दोषी ठहराया गया था। हालांकि तब उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया था।

 

Also Read- ओवैसी ने समझाया कि उन्होंने ISI को नर्क का कुत्ता क्यों कहा 

माधुरी ने स्वीकार किया है कि उन्होंने कुछ अतिसंवेदनशील दस्तावेज ISI के हवाले किये थे। जनसत्ता ने मीडिया की खबरों के हवाले से लिखा है कि, माधुरी ने कहा था कि उच्चायोग के कुछ अधिकारी उसका मजाक उड़ाया करते थे और उनको प्रताड़ित किया करते थे. ऐसे समय में जमशेद ने उनके प्रति सहानुभूति जताई थी.  बाद में दोनों के संबंध प्यार में बदल गये थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*