भूमि कानून उल्लंघन मामले में रामदेव पर 27 मामले दर्ज

हरिद्वार की जिलाधिकारी निधि पांडे ने योग गुरू रामदेव के पतंजलि योगपीठ पर भूमि कानून के उल्लंघन मामले में 27 मामले दर्ज किये हैं. मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने इस बात की पुष्टि की है.ramdev

देहरादून से जयप्रकाश पंवार

मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने आज देहरादून में संवाददाताओं को बताया कि रामदेव के योगपीठ ट्रस्ट ने पिछले कुछ सालों के दौरान भूमि कानूनों को जमकर उल्लंघन किया है. इस प्रकार उत्तराखंड सरकार ने योग गुरु बाबा रामदेव पर शिकंजा कसते हुए पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट पर भूमि कानूनों के उल्लंघन के मामले में सब मिला कर अब तक 81 मामले दर्ज किये हैं.

देहरादून में मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने पत्रकारों से कहा कि कम स्टांप शुल्क चुकाकर प्रदेश के राजकोष को करीब 10 करोड़ रुपये का चूना लगाने के लिये ट्रस्ट के खिलाफ मामले दर्ज किये गये हैं. मुख्यमंत्री ने बताया कि पतंजलि योगपीठ के खिलाफ कार्रवाई की प्रक्रिया चल रही है. उन्होंने भूमि मामले में और भी केस दर्ज करने के संकेत दिये.

सरकारी सूत्रों का कहना है कि योगपीठ ट्रस्ट ने हरिद्वार जिले के दो गांवों शंतरशाह और औरंगाबाद में सरकार की 7.766 एकड़ जमीन पर अवैध कब्जा किया है.
खबर यह भी है कि जिलाधिकारी की नजर में योगपीठ ट्रस्ट द्वारा किये गये भूमि के कुछ बेनामी लेनदेन के मामले भी सामने आये हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*