भोजन की बर्बादी पर पासवान ने जतायी चिंता

खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने होटल और रेस्त्राओं में भोजन की बर्बादी पर चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा है कि लोगों को इसे कम से कम करना चाहिये ।  श्री पासवान ने राज्यों के खाद्य मंत्रियों के सम्मेलन के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि एक ओर लोग भूखे रहते हैं, वहीं दूसरी ओर भोजन की बर्बादी होती है जो राष्ट्रहित में नहीं है । ramvila
 

उन्होंने कहा कि कुछ होटलों और रेस्त्राओं में जरुरत से कई गुना अधिक भोजन परोस दिया जाता है, जिसे एक व्यक्ति नहीं खा सकता है । ऐसे में भोजन की बर्बादी होती है और लोगों को अधिक पैसा भी देना पडता है । इन स्थानों में ऐसी व्यवस्था होनी चाहिये कि जरुरत के हिसाब से ही लोगों को खाद्य सामग्री मिले । उन्होंने कहा कि भोज में भी इस प्रकार की बर्बादी होती है जो ठीक नहीं है ।

 

श्री पासवान ने कहा कि इस वर्ष मार्च के अंत तक अधिकांश राज्यों में सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकानों में नकदी रहित (कैशलेस) प्रणाली लागू हो जायेगी जिससे भ्रष्टाचार पर अंकुश लग सकेगा और पारदर्शिता आ सकेगी । उन्‍होंने कहा कि आन्ध्र प्रदेश , गुजरात , कर्नाटक , राजस्थान , तमिलनाडु , दिल्ली , महाराष्ट्र तथा लक्ष्यद्वीप ने इस वर्ष मार्च तक सार्वजनिक वितरण प्रणाली में नकदी रहित व्यवस्था लागू करने का विश्वास दिया है । ओडिशा के शहरी और जिला स्तर पर तथा छत्तीसगढ में शहर की दुकानों में मार्च तक यह सुविधा शुरू हो जायेगी ।  बिहार और उत्तराखंड ने जुलाई से तथा जम्मू कश्मीर ने इस वर्ष के अंत तक इस सुविधा को लागू करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की है । सभी दुकानों में नकदी से भी राशन लेने की सुविधा जारी रहेगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*