मिथिला का विकास सरकार की प्राथमिकता में शामिल

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता मिथिला को आगे बढ़ाना है क्योंकि मिथिला के विकास बिना राज्य का विकास अधूरा है। श्री कुमार ने मधुबनी जिले के रहिका प्रखंड स्थित सौराठ में मिथिला चित्रकला संस्थान एवं मिथिला ललित संग्रहालय के भवन का रिमोट बटन दबाकर शिलान्यास करने के बाद आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि मिथिला पेंटिंग के प्रति पूरे देश में ही नहीं, देश के बाहर भी लोगों का लगाव है।

उन्होंने कहा, “ हमलोगों की मधुबनी पेंटिंग के प्रति बहुत श्रद्धा है, आप सबलोगों के सहयोग से इसे और आगे बढ़ाएंगे उन्होंने कहा कि देश का विकास तब तक नहीं होगा, जब तक की बिहार का विकास नहीं होगा और बिहार का विकास तब तक नहीं होगा, जब तक कि मिथिला का विकास नहीं होगा।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम फरवरी 2018 में जापान की यात्रा पर गए थे, उस समय जापान में भारत के राजदूत सुजान आर0 चिनॉय थे, जिनकी भी रुचि मिथिला पेंटिंग में रही है। जापान के टोकामाची सिटी में मिथिला म्यूजियम है, जिसके निदेशक टोक्यो हासेगावा हैं, वहां मिथिला पेंटिंग का अद्भुत कलेक्शन है। टोक्यो के विवेकानंद कल्चर सेंटर में राजदूत श्री चिनॉय ने मिथिला म्यूजियम की पेंटिंग की यहां प्रदर्शनी दिखाई थी, वह अद्भुत था। श्री कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास में संकल्प भवन की दीवारों पर भी मिथिला पेंटिंग करायी गई है। पटना शहर में सभी सरकारी दीवारों पर मधुबनी पेंटिंग करायी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*