मिथिला के नर्मदेश्वर झा बुलेट ट्रेन को देंगे रफ्तार,जापान में ले रहे ट्रेनिंग

मिथिला के नर्मदेश्वर झा बुलेट ट्रेन को देंगे रफ्तार,जापान में ले रहे ट्रेनिंग.

Bullet train

नर्मदेश्वर झा बुल्लेट ट्रेन संचालन की ले रहे हैं ट्रेनिंग

मधुबनी से दीपक कुमार

नर्मदेश्वर झा के बुलेट ट्रेन परियोजना में चयन से महिनाम सहित पूरा मिथिलांचल अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहा है.

देश में बुलेट ट्रेन के परिचालन की परिकल्पना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक है. प्रधानमंत्री के सपने को पूरा करने वाली टीम में मिथिलांचल का एक लाल भी शामिल है. दरभंगा जिला के बेनीपुर प्रखंड के महिनाम गांव निवासी डॉ. ललितेश्वर झा के बेटे नर्मदेश्वर झा भारत सरकार की महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन परियोजना में शामिल किए गए हैं. फिलहाल वह ट्रेनिंग के लिए जापान गए हैं.

नर्मदेश्वर कौन

नर्मदेश्वर इंडियन रेलवे ट्रैफिक सर्विस के अधिकारी हैं और फिलहाल सीनियर डिवीजनल ऑपरेशन मैनेजर के पद पर मुंबई सेंट्रल रेलवे में कार्यरत हैं. इन दिनों बुलेट ट्रेन परिचालन की ट्रेनिंग लेने जापान के हिरोशिमा और नागासाकी के 15 दिनों के दौरे पर हैं.

नर्मदेश्वर के चयन से महिनाम सहित पूरा मिथिलांचल अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहा है. नर्मदेश्वर तीन भाइयों में सबसे छोटे हैं. इनकी प्रारंभिक शिक्षा गांव के ही महिनाम हाईस्कूल से हुई. इसके बाद बेगूसराय के मंझौल कॉलेज से इंटर की पढ़ाई पूरी की. इसके बाद एमआईटी से बीटेक और आईआईटी कानपुर से एमटेक की पढ़ाई पूरी की.

यह भी पढ़ें- भारत-जापान के बीच बुल्लेट ट्रेन पर कोई लिखित समझौता नही- आरटीआई से खुलासा

 

2002 में नर्मदेश्वर का चयन इंडियन इंजीनियररिंग सर्विस के लिए हुआ, जिसके बाद सेंट्रल वाटर कमीशन दिल्ली में सीनियर इंजीनियर के पद पर नियुक्ति हुई. नौकरी पाने के बावजूद यूपीएससी की तैयारी में लगे रहे. मेहनत रंग लाई और इंडियन रेलवे ट्रैफिक सर्विस के लिए चुने गए. पहली पोस्टिंग भुसावल में सीनियर डीसीएम पद पर हुई. महाराष्ट्र के शोलापुर में बतौर सीनियर डिवीजनल ऑपरेशनल मैनेजर रहे. वर्तमान में मुंबई सेंट्रल रेलवे में सीनियर डीओएम के पद पर कार्यरत हैं.

उनके पिता डॉ. ललितेश्वर झा मंझौल संस्कृत कॉलेज में शिक्षक रहे हैं. नर्मदेश्वर के सगे-संबंधी गांव में ही रहते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*