मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में CBI की चार्जशीट के हवाले से तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर बोला हमला, लालू बोले – महाजंगलराज का महापाप

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने आज मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न मामले में CBI द्वारा मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर सहित 21 आरोपियों के खिलाफ विशेष पॉक्सो कोर्ट में दाखिल चार्जशीट केे हवाले से नीतीश सरकार पर हमला बोला है। तेजस्वी ने ट्विटर के जरिये उन्हें निशाने पर लिया है। वहीं राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने भी बिहार में अपराध के मामले को लेकर राज्य की वर्तमान सरकार पर हमला बोला है।

तेजस्वी – लालू यादव

नौकरशाही डेस्क

तेजस्वी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि नीतीश जी द्वारा संपोषित 34 बच्चियों के संस्थागत जनबलात्कार के दोषी ब्रजेश के काले कारनामे। नीतीश जी ने ब्रजेश को बचाया ही नहीं अपितु उसके NGO को FIR वाले दिन 1 करोड़ की राशि भी निर्गत की। IPRD मंत्री की हैसियत से उसके अख़बारों को करोड़ों के विज्ञापन दिए।

इससे पहले राजद के युवा नेता ने बिहार में अपराध को लेकर भी मौजूदा सरकार को निशाने पर लिया था और कहा था कि बिहार में महाजंगलराज का महापाप। 2018 के शुरुआती 9 महीनों में 2500 हज़ार से ज़्यादा क़त्ल और हत्या। सावधान! अपनी ज़ुबान से नीतीश छाप गुंडाराज, बलात्कार राज, माफ़िया राज को जंगलराज नहीं बताना नही तो कुछ नहीं पता कब सत्ता संरक्षित अपराधियों का माथा ठनक जाए?

वहीं, राजद सुप्रीमो लालू यादव ने भी राज्य की वर्तमान हालात पर चिंता जाहिर की। उनके ट्विटर एकाउंट से लिखा गया कि ‘महाजंगलराज का महापाप! बिहार में 2018 के शुरुआती 9 महीनों में ही 2500 से ज्यादा हत्याएं’।

गौरतलब है कि CBI ने मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर सहित 21 आरोपियों के खिलाफ विशेष पॉक्सो कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में गंभीर आरोप लगाए हैं। इसके अनुसार लड़कियों को गंदे भोजपुरी गानों पर डांस कराया जाता था। उन्हें नशे की सुई और दवा देकर सुला दिया जाता था। सोने के बाद उनके साथ दुष्कर्म किया जाता था।

चार्जशीट के अनुसार, बालिका गृह में रोज ब्रजेश ठाकुर की महफिल सजती थी। ब्रजेश के अलावा शेल्टर होम के कर्मचारी और सीडब्ल्यूसी के सदस्य सहित अन्य लोग रात में पहुंचते थे। नाबालिग बच्चियों को छोटे-छोटे कपड़े पहनाकर अश्लील गानों पर डांस के लिए मजबूर करते और इनकार करने पर उन्हें मारा पीटा जाता था।

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*