‘मुसलमानों को फंसाने, विहिप दंगाइयों को छोड़ने से मना किया तो मिली सजा’

राजस्थान के एक आईपीएस अफसर ने वसुंधरा राजे  सरकार पर सनसनीखेज आरोप लगाया है. बोंदी जिले के निवर्तमान एसपी पंकज चौधरी ने आरोप लगाया है कि राज्य सरकार ने उन पर बजरंग दलल और विश्व हिंदू परिषद के दंगाइयों को छोड़ने और मुसलमानों पर झूठा केस ठोकने का दबा डाला था.

पंकज चौधरी: ईमानदारी की चुकाई कीमत

पंकज चौधरी: ईमानदारी की चुकाई कीमत

यह मामला सितम्बर 2014 का है जब बोंदी में दंगा भड़काया गया था.पंकज चौधरी के मुताबिक उन पर हर स्तर पर दबाव डाला गया. जब उन्होंने किसी भी दबाव को स्वीकार नहीं किया तो उन्हें एसपी पद से हटा दिया गया. चौधरी अब 11वी बटालियन के प्रमुख बनाये गये हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक चौधरी पर चार्जशीट किया गया और उन पर आरोप लगाया गया कि उन्होंने दंगा रोकने में कोताही बरती. इस मामले में अखबार ने जब राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया से जानना चाहा तो उन्होंने जवाब दिया कि कागजात पढ़ने के बाद ही वह कुछ बोलेंगे.

पंकज चौधरी ने इंडियन एक्सप्रेस को यह भी बताया है कि फसाद होते हनीं हैं बल्कि करवाये जाते हैं. चौधरी कहते हैं कि सरकार में बैठे कुछ गद्दार लोग गलत तरीके से दबाव डालते हैं. पंकज ने कहा कि उन्हें उनकी ईमानदारी की सजा मिली है. उन्होंने यह भी कहा कि वह जल्द ही एक किताब लिख कर बहुत बड़े खुलासे करने वाले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*