मुसलमान संगठित हो कर हारने को तैयार हों तो जीत सुनिश्चित

जनता दल राष्ट्रवीदी के राष्ट्रीय संयोजक अशफाक रहमान ने कहा है कि जिस दिन मुसलमान संगठित हो कर हारने को तैयार होंगे वह दिन उनकी जीत का पहला दिन होगा.

जनता दल राष्ट्रवादी के राष्ट्रीय संयोजक हैं अशफाक

जनता दल राष्ट्रवादी के राष्ट्रीय संयोजक हैं अशफाक

एक न्यूज चैनल को दिये साक्षात्कार में अशफाक रहमान ने कहा कि मुसलमान पिछले 68 वर्षों से जीतने की उम्मीद में हर बार हारते रहे हैं क्योंकि वे वैसे नेताओं से उम्मीद पालते रहे हैं जो उन्हें महज अपनी राजनीतिक जीत के लिए इस्तेमाल करते हैं.

एटीएन न्रयूज चैनल को दिये साक्षात्कार में रहमान ने कहा कि जिन लोगों को आप ( मुसलमान) मुसलमानों का नेता मान रहे हैं वह नेता नहीं. आजाद भारत में मुसलमानों का कोई नेता नहीं हुआ. मंत्री हुए, विधायक हुए. आईएएस हुए लेकिन कोई मुसलमानों का अपना नेता नहीं हुआ.  उन्होंने कहा कि यह पहला अवसर है जब मुस्लिम नेतृत्व का विकास जनता दल राष्ट्रवादी ( जेडीआर) के प्रयासों में हो रहा है.

तमाम वंचितों की चिंता

रहमान ने कहा हम तमाम वंचितों के लिए काम करेंगे. जो उपेक्षा के शिकार हैं. मुसलमानों को आरक्षण दे कर उन्हें आगे लाया जायेगा. हमारा पूरा फोकस वंचित समुदायों पर ही होगा. अगर ब्रह्मण वंचित है तो उसे भी आगे बढ़ाया जायेगा. हम किसी परिवार को महज एक बार आरक्षण देने के पक्ष में हैं. हमारी बातें लोगों के दिमाग में बैठने में देर लगेगी लेकिन यह मजबूती से बैठेगी.

रहमान ने कहा मुसलमानों ने इस देश को बहुत कुछ दिया. 850 सालों तक मुसलमान सत्ता में रहे. लेकिन उन्होंने कभी इस देश का या यहां की जनता का नुकसान नहीं पहुंचाया. आरएसएस वाले अफवाह फैला कर जितना बदनाम कर लें. रहमान ने कहा कि बिहार में एक मात्र मुसलमान चीफ मिनिस्टर गफूर साहब रहे. उनकी ईमानदारी की कसमयें लोग खाया करते थे. सिर्फ मुसलमान ही नहीं, तमाम जातियों को समान भागी दारी होगी.

मुसलमानों को आरक्षण

रहमान ने कहा हमारी पार्टी मजबूत होती है तो हम मुसलमानों को आरक्षण, सभी को शिक्षा और सभी के साथ न्या के सिद्धांत पर काम करेंगे. आज शिक्षा के विकास के नाम पर विनाश हो रहा है. हम इसे बदलना चाहते हैं. स्वास्थ्य को देखें. सरकारी डाक्टर प्राइवेट प्रेक्टिस करते हैं. यह नहीं चलेगा. न्याय समय पर लोगों को मिले. यही हमारा उद्देश्य है.

रहमान ने कहा कि हम अपनी बात लोगों के सामने रख रहे हैं. हम मुसलमानों को यह बताना चाहते हैं कि वे 68 साल से अलग-अलग पार्टियों पर भरोसा करके जीतने की उम्मीद में आप हर रोज हार रहे हैं. लेकिन मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि आप जेडीआर के साथ आइए. तब आपको लग सकता है कि आप हमारे साथ आ कर हार जायेंगे लेकिन जिस दिन आप( मुसलमान) संगठित हो कर हारने के लिए तैयार हो जाइगा वही दिन आपकी जीत का पहला दिन होगा. मुसलमानों को डेमोक्रेसी में संगठित होना पड़ेगा. अन्य समुदायों की तरह. तभी आपका हक मिलेगा. अभी तक जो मुसलमानों का विनाश होता रहा है उसकी वजह सिर्फ यही है कि वे अलग-अलग पार्टियों के हाथों का खिलौना बनते रहे हैं. कुछ मुस्लिम सत्ता की दलाली में लगे हैं. हमारी कोशिश है कि उन सत्ता के दलालों से हम मुसलमानों को आजाद करायें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*