मोइनुल हक स्‍टेडियम का होगा जीर्णोद्धार, 40 हजार दर्शकों की होगी क्षमता

बोर्ड ऑफ क्रिकेट कंट्रोल ऑफ इंडिया से बिहार को पूर्ण सदस्‍यता मिलने के बाद राज्‍य सरकार ने मोइनुल हक स्‍टेडियम के जीर्णोद्धार करने का फैसला लिया है. कला, संस्‍कृति एवं युवा विभाग के मंत्री शिवचंद्र राम ने शुक्रवार को विधान सभा में विभाग की 79 करोड़ 60 लाख रूपए से अधिक की अनुदान की मांगों पर अपने जवाब में मोइनुल हक स्‍टेडियम को अत्‍याधुनिक सुविधाओं से लैस करने की घोषणा की.CRPF camp is in stadium_0

नौकरशाही डेस्‍क

उन्‍होंने कहा कि मोइनुल हक स्‍टेडियम को तोड़ कर वहां अत्‍याधुनिक सुविधाओं से लैस एक नए स्‍टेडियम का निर्माण किया जाएगा, जिसकी लागत तकरीबन 300 करोड़ आएगी। स्‍टेडियम में दर्शकों के बैठने की क्षमता को भी बढ़ा 40 हजार किया जाएगा, ताकि अधिक से अधिक लोग यहां खेलों का लुत्‍फ उठा सकें. साथ ही स्‍टेडियम के ही अंदर 400 गाडि़यों के पार्किंग की भी व्‍यवस्‍था की जाएगी.

मंत्री ने कहा कि अब बिहार के बच्‍चों को रणजी ट्राफी खेलने बिहार से बाहर दूसरे अन्‍य स्‍टेट जैसे झारखंड, यूपी और राजस्‍थान नहीं जाना पड़ेगा. उन्‍होंने कहा कि अब जबकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने बिहार को पूर्ण सदस्‍यता प्रदान कर दी है, तो यहां रणजी ट्रॉफी के साथ – साथ आईपीएल के टी – 20 क्रिकेट का भी आयोजन होगा. इसलिए हमें विश्‍व स्‍तरीय क्रिकेट स्‍टेडियम बनाने के लिए मोइनुल हक स्‍टेडियम को अत्‍याधुनिक सुविधाओं से लैस करना आवश्‍यक हो गया.

इसके अलावा, मंत्री ने राजगीर में फिल्‍म सिटी बनाने की बात भी सदन में कही। उन्‍होंने कहा कि इसके डिजाइन के लिए विशेषज्ञों से राय शुमारी की जा रही है. जल्‍द ही बिहार में भी फिल्‍म सिटी बनाई जाएगी. साथ उन्‍होंने लोक कवि भिखारी ठाकुर को केंद्र सरकार से भारत रत्‍न देने की मांग भी रखी.

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*