मोदीजी आपके चेहरे पर अब यह कैसी बेबसी है?

शनिवार को पीएम मोदी ने उड़ी आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान पर खुल कर बोले.  उन्होंने पाकिस्तानी नेताओं के बजाये सीध वहां के अवाम से बात की.  पत्रकार निखिल आनंद इस लेख में सीधे पीएम मोदी से संवाद करते हुए अपने अंदाज में कुछ कह रहे हैं. आप भी पढ़िये modi.sad

आदरणीय प्रधानमंत्री जी!
सादर प्रणाम! सबसे पहले आपकी इज्जत आफजाई में दो लाईन अर्ज है: “आईना तुझसे तेरी पहली सी सूरत माँगे! तेरे हमवतन तेरे होने की निशानी माँगे!!” ये किसने प्रधानमंत्री जी आपका ऑरिजिनल चेहरा फोटोशॉप कर दिया लगता है- बिलकुल मुरझाया हुआ सा, धुप में झुलसा गया जैसा या फिर ऐसा कि चिंता- परेशानी की आग से चेहरा काला पड़ गया है। विश्वास न हो तो आप अपनी 2013- 14 की तस्वीर से मिला कर देख लिजिये। ये जो पाकिस्तान ने नापाक हरकत से भारत में तबाही मचा रखी है तो सत्ता में आने के पहले से अभी तक जोर- जोर से हाई पीच टोन में -प्रधानमंत्री जी- आप कुछ ज्यादा ही अनर्गल बोल रहे थे लेकिन कुछ कर नहीं पाने की बेबसी भी आपके चेहरे पर नजर आ सकती है।

 

हमें गर्व है कि आप हमारे 56 इंच चेस्ट वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं। आपको टेन्शन देने वाले को जान लेना चाहिये कि डील हो चुका है और 2019 तक राफेल भी आ रहा है, पाकिस्तान नहीं बचेगा। आइये हमसब मिलकर नारा लगाते हैं भारत की खातिर: पाकिस्तान हो बर्बाद! पाकिस्तान- होश में आओं! प्रधानमंत्री जी, घबराने की जरूरत नहीं है। हमारे देश के पत्रकार तो अभी से मोर्चा पर जाने के लिये तैयार हैं। फिर संघ, बीजेपी, गौरक्षक, मनसे, शिवसेना, वीएचपी, बजरंग दल और सोशल मिडिया पर भक्तों की फौज तो है ही। ये इतनी बड़ी संख्या है कि क्रिकेट के बारहवें खिलाड़ी की तरह भारतीय सेना को तो लड़ने का भी मौका नहीं मिलेगा, हम उसके लड़े बिना भी जंग जीत सकते हैं।

फड़फड़ा रही भुजायें

इन दिनों टीवी चैनल देखकर हर भारतीय का खून खौल रहा है, भुजायें फड़फड़ं रही हैं। एकदम बर्दाश्त नहीं हो रहा है। अब बहुत हो गया, आप युद्ध का ऐलान किजिये। वैसे भी पिछले 10 साल से आप तो मनमोहन सिंह को इसी लिये कोस रहे थे न कि वे डरपोक प्रधानमंत्री है, उनके मुँह में आवाज भी नहीं है और लड़ने से डरते भी हैं। चलिये आपको हम सब भारत के इतिहास का सबसे बहादुर प्रधानमंत्री मानने को तैयार है लेकिन आप पाकिस्तान से लड़ाई करके दिखाइये। अब तो हम सबको पूरा कश्मीर ही नहीं चाहिये बल्कि लाहौर व करांची तक का लॉन्ग ड्राइव ट्रीप चाहिये और बलूचिस्तान में डेजर्ट सफारी भी करने मन कर रहा है। फिर उधर से हमलोग रूस और अफगानिस्तान भी आराम से घुमकर आ जायेंगे। आपके दिखाये सपने में जब इतना मजा है तो फिर हकीकत में ऐसा होगा तो कितना मजा आयेगा। है कि नहीं प्रधानमंत्री जी!

महंगाई और माल्या को भुला दिया..पर पाकिस्तान को नहीं

अब कितना बर्दाश्त करें सिर्फ इस भरोसे की पाकिस्तान को आप ठीक करेंगे। आटा, दाल, चावल, सब्जी सब महंगा हो गया हम चुप हैं। न तो कालाधन आया और न ही 15 लाख रूपया ही हम सबके खाता में आया। और तो भी ललित मोदी और विजय माल्या सबको चकमा देकर करोड़ो रूपये लेकर भाग गया, कई लोग कहते हैं कि आपकी सरकार ने ही भगा दिया। सब जगह आप फेल हो रहे हैं तब भी पाकिस्तान को औकात में लाने के लिये हम सब अभी तक भरोसा रखे हुये हैं। लेकिन यहां भी मामला गड़बड़ाता हुआ दिख रहा है। आप नरम पड़ते दिखाई दे रहे हैं तो सोशल मिडिया पर नाली के कीड़े की तरह गिर- गिरकर लोग आपकी तुलना करने लगे हैं कि- गरजने वाला बादल जो बरसता नहीं है और एक प्राणी जो बहुत बोलता है पर काटता नहीं है। आपकी खातिर यह सब सुनना पड़ रहा है।

 

प्रधानमंत्री जी! आपने संविधान की शपथ ली है तो हम आपकी कसम खाकर कहते हैं कि आपको हमने वोट इसीलिये ही दिया था कि पाकिस्तान को हैसियत बताकर मजा चखायेंगे, उसके चार टुकड़े करके चार नया देश बना देंगे, हमारे एक शहीद के बदले दस पाकिस्तानी सैनिकों के सर कलम कर लायेंगे, सीमा पार करके उसकी सरजमीन पर घुस कर आतंकी कैंपों और आतंकवादियों को मार डालेंगे। उल्टे फिरोजपुर, उड़ी सहित सब जगह वे ही घुसकर तबाही मचा रहे है। आपके शासन में अबतक 100 के लगभग सैनिक मारे गये है जिसमें 32-35 तो सिर्फ इसी साल शहीद हुये हैं। लेकिन अफसोस कि आपका कहा हुआ ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है अबतक के दो साल से ज्यादा वक्त की आपकी सरकार में। यहाँ तो हमारा कश्मीर ही नहीं संभल रहा है जहाँ आपकी अप्राकृतिक गठबंधन की सरकार है।

फेसबुक से

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*