यूनिवर्सिटी कैम्पस में अगर हुआ लोकतांत्रिक प्रक्रिया ध्वस्त, तो रह जाएगा देश भगवान भरोसे : तेजस्वी

बिहार के युवा नेता सह बिहार विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने आज जवाहरलाल यूनिवर्सिटी में हुए जेएनयूएसयू चुनाव के बाद काउंटिंग के दौरान अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के हंगामें पर नाराजगी जाहिर की. उन्‍होंने अपने ट्विटर टाइमलाइन  पर लिखा कि जेएनयू में छात्रों की भावनाओं और अधिकारों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. यूनिवर्सिटी कैम्पस में भी अगर लोकतांत्रिक प्रक्रिया को ध्वस्त किया जाने लगा तो फिर देश भगवान भरोसे रह जाएगा. 

नौकरशाही डेस्‍क

बता दें कि इस बार जेएनयूएसयू चुनाव में राजद ने बिहार के ही जयंत जिज्ञासु को अपना उम्‍मीदवार बनाया है, जिसने अपने पहले ही प्रेशिडेंसियल भाषण से सबका ध्‍यान अपनी ओर खींचा था. ऐसे में तेजस्‍वी यादव की भी नजर इस बार जेएनयूएसयू चुनाव पर है। यही वजह है कि 14 सितंबर को हुए चुनाव के बाद हंगामें से तेजस्‍वी यादव खासे नाराज नजर आये और ट्विट के जरिये इसका इजहार भी किया.

उन्‍होंने अपने पहले ट्विट में लिखा कि सुबह 4 बजे से यानि विगत 12 घंटो से JNU छात्र यूनियन के चुनावों की काउन्टिंग बंद है, सुरक्षाकर्मियों को घायल कर दिया गया है, EC मेम्बर्स के बीच दहशत फैलाई जा रही है. छात्र राजद की संभावित जीत देख कर मनुवादियों और हिपोक्रेट्स ने अनावश्यक बखेड़ा खड़ा कर रखा है. एक दूसरे ट्विट में लिखा‍ कि कुछ अतिवादी ताक़तें नहीं चाहतीं कि समय रहते JNU छात्र चुनाव की मतगणना पूरी हो. तय अवधि के दौरान काउंटिंग सम्पन्न नहीं होने की स्थिति में लिंगदोह कमिटी रेकमेंडेशन के तहत पूरा चुनाव ही कुप्रभावित हो सकता है. कोई हारे, कोई जीते लेकिन नतीजा आना चाहिए. कैम्पस को अखाड़ा मत बनाइये.

एक अन्‍य ट्विट में उन्‍होंने लिखा कि जेएनयू में छात्रों की भावनाओं और अधिकारों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. यूनिवर्सिटी कैम्पस में भी अगर लोकतांत्रिक प्रक्रिया को ध्वस्त किया जाने लगा तो फिर देश भगवान भरोसे रह जाएगा. युवाओं का कारवाँ छात्र राजद के साथ निकल पड़ा है, उसे कोई ताक़त नहीं रोक सकती. मालूम हो कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के हंगामें के बाद जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) चुनाव की मतगणना शनिवार तड़के रोक दी गई. एबीवीपी का आरोप है कि उनके मतगणना एजेंट को साइंस स्कूलों में मतगणना शुरू होने की जानकारी नहीं दी गई. जेएनयू चुनाव समिति ने एक बयान में कहा कि उन्होंने मतगणना कुछ समय के लिए रोक दी है लेकिन उन्होंने प्रदर्शन करने वाली पार्टी का नाम उजागर नहीं किया.

 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*