योगी अदित्‍यनाथ के दौरे को लेकर सियासत चरम पर, नीतीश ने कहा – न आएं खाली हाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के दरभंगा दौरे को लेकर बिहार का सियासी पारा चरम पर है. जहां राज्‍य के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने योगी को दरभंगा खाली हाथ नहीं आने को कहा, वहीं, दिल्‍ली से पटना पहुंचे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने कहा कि योगी जी पूजापाठ करने आ रहे होंगे. उल्‍लेखनीय है कि उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की आज दरभंगा के ऐतिहासिक राज मैदान में जनसभा है.

नौकरशाही डेस्‍क

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि वह खाली हाथ बिहार का दौरा नहीं करें बल्कि शराबबंदी और स्थानीय निकायों में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण लागू करें. बिहार में शराबबंदी काफी सफल रही है और भाजपा शासित प्रदेशों को इसका अनुकरण करना चाहिए. तो राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने कहा कि वे दरभंगा पूजा करने के लिए आ रहे होंगे. एक सवाल के जवाब में उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार ने काम ही क्या किया है, जिसका प्रचार करेंगे. जनता सब जानती है. उनके आने से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है.

इन नेताओं के अलावा बिहार के उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव ने भी योगी आदित्‍यानाथ के दौरे पर तंज करते हुए ट्वीट किया – ‘योगी जी अपने दो उपमुख्य्मंत्रियो के साथ आज बिहार की अच्छी और चिकनी सड़कें देखने बिहार आ रहे हैं, ताकि बिहार की गुणवता से कुछ सीख सके. जय बिहार.’ जदयू प्रवक्‍ता नीरज कुमार ने लोकसभा चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी द्वारा किए वादों को याद दिलाते हुए कहा कि योगी को मोदी के बिहार से किए गए वादे को भी याद दिलाना चाहिए. उन्हें बताना चाहिए कि 3 साल में केंद्र सरकार ने कितने वादे पूरे किए.

उधर, भाजपा एमएलसी संजय कुमार ने बताया कि 2 साल पहले योगी बिहार के चंपारण आए थे. उस वक्त हम लोग चाह रहे थे कि वो दरभंगा आएं, लेकिन किसी कारण से प्रोग्राम टल गया. बिहार के कुछ क्षेत्रों जैसे चंपारण, दरभंगा, मधुबनी में उनकी पापुलैरिटी यूपी की ही तरह है. राजद नेता व बिहार के वित्त मंत्री अब्‍दुल बारी सिद्दकी ने कहा कि भाजपा समाज को बांटती है. पिछली बार भी भाजपा के कई नेता बिहार आए थे. जनता ने उन्‍हें सबक सिखा दिया.

बता दें कि इससे पहले योगी आदित्यनाथ इसी महीने 16 जून को पटना आने वाले थे. मगर उनका पटना दौरा बाद में रद्द कर दिया गया था. उनके साथ ही बिहार दौरे पर यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी आने वाले थे, जिन्‍हें पटना और नालंदा में जनसभा को संबोधित था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*