राजद की रैली को बताया असंवेदनशीलता का परिचायक

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राज्य के बाढ़ पीड़ितों को मदद पहुंचाने के बजाये राष्ट्रीय जनता दल की ओर से 27 अगस्त को राजनीतिक रैली के आयोजन को उसकी संवेदनहीनता बताया और कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी समेत देश के अन्य वरिष्ठ नेताओं को अपनी छवि बचाने के लिए इस रैली से दूर रहना चाहिए ।

श्री मोदी ने विधानसभा परिसर स्थित अपने कक्ष में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि राज्य में इस बार बाढ़ की तबाही कोशी त्रासदी से भी कहीं ज्यादा है। सरकार अपने स्तर से बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए हर संभव प्रयास कर रही है और 26 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे । उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब राज्य के 19 जिले में बाढ़ से भीषण तबाही हुई है, पीड़ितों की मदद के बजाये राजनीतिक रैली का आयोजन राजद की संवेदनहीनता को दर्शाता है। इससे यह साफ हो जाता है कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार को बिहार के लोगों की नहीं बल्कि सिर्फ अपनी बेनामी सम्पत्ति की परवाह है।

 

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि राजद की ‘भाजपा भगाओ-देश बचाओ रैली’ भाजपा के खिलाफ नहीं बल्कि बेनामी सम्पत्ति को बचाने के लिए है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी समेत रैली में आने के लिए हामी भरने वाले देश के अन्य वरिष्ठ नेताओं को इससे दूर ही रहना चाहिए, क्योंकि बाढ़ पीड़ितों की सुध लेने के बजाये यदि वह राजनीतिक रैली में हिस्सा लेते हैं तो इससे उनकी छवि धूमिल ही होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*