राफेल की सीक्रेट फाइल चोरी, कांग्रेस ने कहा – पकड़ी गई चौकीदार की चोरी

राफेल की सीक्रेट फाइल चोरी, कांग्रेस ने कहा – पकड़ी गई चौकीदार की चोरी

विवादित राफेल डील को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने कहा कि राफेल डील से जुड़े कागजात चोरी हो गए हैं। याचिकाकर्ता उनका इस्तेमाल करके आधिकारिक गोपनीयता कानून का उल्लंघन कर रहे हैं। इस पर कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा है और कहा कि चौकीदार की चोरी पकड़ी गई। 

Rafale case judgment

नौकरशाही डेस्‍क

आज सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने केंद्र सरकार के जवाब पर उनकी ओर से पेश हुए अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से पूछा कि फिर सरकार ने अब तक क्या किया। एजी ने बताया कि सरकार इस बात की जांच कर रही है कि यह चोरी कैसे हुई। एजी ने कहा कि प्रशांत भूषण जिन दस्तावेजों पर भरोसा कर रहे हैं, वे रक्षा मंत्रालय से चुराए गए हैं। यह  आधिकारिक गोपनीयता कानून का उल्लंघन हैं। 

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में प्रशांत भूषण, यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी ने पुनर्विचार याचिका दाखिल की थी, जिस पर सुनवाई हो रही है। बीते 26 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट राफेल मामले पर दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया था। कोर्ट ने कहा था कि ये सुनवाई खुली अदालत में होगी। दरअसल, राफेल पर 14 दिसंबर के फैसले पर चार याचिकाएं दाखिल की गई थीं। पहली संशोधन याचिका केंद्र सरकार द्वारा दाखिल की थी, जिसमें कहा गया है कि कोर्ट फैसले में CAG रिपोर्ट संसद के सामने रखी गई की टिप्पणी को ठीक करे।  

उधर, कांग्रेस ने इस मामले में मोदी सरकार को निशाने पर ले लिया है। कांग्रेस की ओर से रणदीप सुरजेवाला और प्रियंका चतुर्वेदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि जब कांग्रेस की सरकार 126 जहाज खरीद रही थी, तब उनमें ट्रांसफर ऑफ टेक्नोलॉजी शामिल थी। मगर मोदी सरकार के सौदे में यह नहीं है। चौकीदार की तीसरी चोरी है कि चौकीदार स्वंय इंडियन नेगोसिएशन टीम को बाइपास कर 36 लड़ाकू जहाजों की नेगोशिएशन कर रहे थे। दोस्तों यह सनसनीखेज बात है कि इन 36 जहाजों के खरीदने का निर्णय इंडियन नेगोशिएशन टीम ने नहीं किया। इसका नेगोशिएशन अजित डोभाल ने किया।

 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*