रियर एडमिरल एस.सी. वर्मा व मुकुल अस्थाना ने संभाला पदभार

रियर एडमिरल एस.सी. वर्मा, वीएसएम ने नई दिल्ली में एकीकृत मुख्यालय रक्षा मंत्रालय (नौसेना) में नौसेना सहायक प्रमुख (विशेष पनडुब्बी परियोजना) और रियर एडमिरल मुकुल अस्थाना, एनएम को नई दिल्ली में सहायक मुख्य नेवल स्टाफ (एअर) का कार्यभार संभाल लिया.

नौकरशाही डेस्‍क

रियर एडमिरल एस.सी. वर्मा, वीएसएम  राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, पुणे, भारत (1986), डिफेंस सर्विसेज स्टॉफ कॉलेज, वेलिंग्टन, भारत (2002) और नैवल वॉर कॉलेज, मुंबई, भारत (2009) के स्नातक हैं. उन्हें 01 जुलाई, 1987 को भारतीय नौसेना में कमीशन प्राप्त हुआ था. उन्होंने 1993 में नेविगेशन और डायरेक्शन में विशेषज्ञता प्राप्त की थी. उन्होंने फॉक्सट्रॉट और किलो क्लास पनडुब्बी में विशेषज्ञ के रूप में काम किया और आईएनएस सिंधुरत्न, आईएनएस सिंधुराज में कार्यकारी अधिकारी के तौर पर अपनी सेवाएं दीं. इसके अलावा उन्होंने आईएनएस सिंधुकेसरी, आईएनएस राजपुर और आईएनएस रंजीत की कमान भी संभाली. नई नियुक्ति के तहत रियर एडमिरल एस.सी. वर्मा सबमरीन स्कूल के ऑफिसर इंचार्ज, सबमरीन ऑपरेशन्स के निदेशक, सबमरीन ऑपरेशन के प्रमुख निदेशक और न्यूक्लियर एक्वीजिशन्स के प्रमुख निदेशक के रूप में अपनी सेवाएं देंगे.

वहीं, रियर एडमिरल मुकुल अस्थाना, एनएम को भारतीय नौ सेना की कार्यकारी शाखा में 1986 में कमीशन दिया गया था. वे नौ सेना अकादमी से स्नातक और उन्होंने 141 पायलट कोर्स किए हैं. उन्हें वायु सेना अकादमी में जून, 1988 को विंग प्रदान की गई थी. अनुभवी पायलट होने के तौर पर उन्होंने चार प्रकार के हवाई जहाज उडाए हैं. भारतीय नेवल एअर स्कवेड्रन 551, 550 और 310 आई डब्ल्यू में परिचालनिक तथा पर्यवेक्षी पदों पर भी काम किया है. उन्होंने सन 2000 में डिफेन्स सर्विसेस स्टाफ कॉलेज, वेलिंगडन में कमाण्ड और स्टाफ कोर्स किया है. 2009 में मुम्बई में हायर कमाण्ड कोर्स और नेवल वार कॉलेज में भी भाग लिया.

जनवरी, 2016 में फ्लैग रैंक पर पदोन्नत होने पर रियर एडमिरल मुकुल अस्थाना ने नई दिल्ली में परियोजना वर्षा के महानिदेशक का कार्यभार संभाला जहां वह भारतीय नौसेना के लिए भावी अवसंरचना विकसित करने में संलिप्त रहे. उन्हें प्रतिष्ठित नौसेना पदक से तथा चीफ ऑफ नेवल स्टाफ और पूर्वी नेवल कमाण्ड के फ्लैग ऑफिसर कमाण्डिंग इन चीफ द्वारा सम्मानित किया गया है. उन्हें 2006 में भारत के राष्ट्रपति द्वारा तेंज़िंग नोर्गे राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था.

 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*