लालू का दो टूक – दस करोड़ लोगों के पीछे नहीं लग सकती पुलिस

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने गोपालगंज की घटना को दुखद बताया और कहा कि राज्य सरकार को इसे गंभीरता से लेना चाहिए, क्योंकि शराबबंदी के बावजूद इस तरह की घटना कैसे हुयी । श्री यादव ने पटना में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि गोपालगंज की घटना हृदय विदारक और दुखद है । उन्होंने कहा कि गोपालगंज के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटनास्थल से होम्योपैथिक दवा की बोतलें मिली है ।lalu

राजद अध्यक्ष ने कहा कि राज्य सरकार को इस घटना को गंभीरता से लेना चाहिए । शराबबंदी के बावजूद ऐसी घटना क्यों हुयी यह एक गंभीर मामला है । उन्होंने कहा कि गोपालगंज उत्तर प्रदेश से लगा हुआ जिला है और इस मामले में उत्पाद एवं मद्य निषेध विभाग की ओर से जारी बयान और दी गयी स्पष्टीकरण से वह भी अवगत हैं ।

 

श्री यादव ने कहा कि इस मामले की जांच मजबूती से मुख्यमंत्री को करवानी चाहिए । हालांकि उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद पुलिस और सामान्य प्रशासन के अधिकारी एलर्ट पर हैं । उन्होंने कहा कि शराब में मिलावट करने का मास्टमाइंड एक माह पूर्व ही जेल से छूट कर आया है । राजद अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री की ओर से मुआवजा दिये जाने की घोषणा को सही बताया और कहा कि लोगों को सचेत और जागरुक रहना चाहिए । बिहार दूसरे राज्यों से घिरे टापू की तरह है और शराबबंदी में जगह-जगह जांच संभव नहीं है । उन्होंने कहा कि थानों की पुलिस दस करोड़ लोगों के पीछे नहीं लग सकती । श्री यादव ने कहा कि शराबबंदी को लेकर जागरुकता जरुरी है और मीडिया का इसमें अहम भूमिका है । उन्होंने कहा कि वह गोपालगंज जाकर पीड़ित परिवारों से मुलाकात करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*