लालू परिवार में कलह का ‘समाधान’ बने भोला यादव

पूर्व मुख्‍यमंत्री व विधान पार्षद राबड़ी देवी के निजी सचिव भोला यादव विधान परिषद उपचुनाव में राजद के उम्‍मीदवार होंगे। उन्हें जदयू व कांग्रेस का समर्थन भी प्राप्‍त है। भोला यादव काफी समय से लालू यादव के करीबी रहे हैं और उनकी निजी सचिव के तौर पर कार्य करते रहे हैं। लालू यादव जब केंद्रीय रेलमंत्री थे, तब भी भोला यादव उनके साथ जुड़े रहे थे।bhola yadav copy

वीरेंद्र यादव, बिहार ब्‍यूरो प्रमुख

http://naukarshahi.com/archives/15224

(इसे भी पढ़े- लालू यादव परिवार मोह से बाहर निकल पाएंगे)

चर्चा थी कि लालू यादव की पुत्री मीसा भारती गठबंधन के उम्‍मीदवार हो सकती हैं। लेकिन लालू यादव के परिवार के अंदर ही मीसा के नाम पर विरोध शुरू हो गया था। इस विरोध को दबाने के लिए बीच का रास्‍ता निकाला गया और राबड़ी देवी के सुझाव पर भोला यादव के नाम पर सहमति बनी। परिवार में उनके नाम पर सहमति सप्‍ताह भर पहले ही बन गयी। उपचुनाव के परिणाम के इंतजार में नाम की घोषणा नहीं की जा रही थी। भोला यादव परिवार के सदस्‍य न होते हुए भी परिवार के करीबी रहे हैं। पूरा परिवार उन पर विश्‍वास करता है और पार्टी को भी उन पर भरोसा है। उनकी जीत लगभग तय है। क्‍योंकि जीत के लिए उनके पास पर्याप्‍त वोट हैं।

भोला यादव लालू प्रसाद के राजनीतिक मामलों के अलावा पारिवारिक मामले भी देखते रहे हैं। आवासीय कार्यालय के प्रभारी भी वही रहे हैं। हालांकि उनका पार्टी संगठन से कोई वास्‍ता नहीं रहा है। फिलहाल अभी वह आधिकारिक तौर पर राबड़ी देवी के निजी सचिव के रूप में काम देख रहे हैं। उल्‍लेखनीय है कि वर्तमान उद्योग मंत्री डॉ भीम सिंह विधान परिषद सदस्‍य बनने से पहले राबड़ी देवी के निजी सचिव थे। बाद में उन्‍होंने राजद छोड़ कर जदयू की सदस्‍यता ली और फिर नीतीश सरकार में मंत्री भी बने1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*