लैंगिक समानता भारतीय संस्‍कृति का हिस्‍सा : स्‍मृति जुबिन ईरानी

केन्‍द्रीय वस्‍त्र मंत्री स्‍मृति जुबिन ईरानी ने कहा कि लैंगिक समानता भारतीय संस्‍कृति का हिस्‍सा है और इसे और भी मजबूत बनाया जाना चाहिए। आज नई दिल्‍ली में रायसीना डायलॉग को संबोधित करते हुए उन्‍होंने भारत के मिसाइल और अंतरिक्ष कार्यक्रमों में महिला वैज्ञानिकों की सहभागिता के बारे में विस्‍तार से बताया।

स्मृति ईरानी

नौकरशाही डेस्क

वस्‍त्र मंत्री ने भारत के स्‍वतंत्रता आंदोलन में महिलाओं की भागीदारी पर भी ध्‍यान आकृष्‍ट कराया। उन्‍होंने कहा कि आज महिलाएं पूरे देश में पुरूषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही हैं। उन्‍होंने समाज में लैंगिक समानता को बनाए रखने की जरूरता पर बल दिया। उन्‍होंने कहा कि सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में लड़कियां लड़कों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन कर रही हैं।

ये भी पढ़ें : राज्यसभा में कोटा बिल का राजद नेता मनोज झा ने किया डंके की चोट पर विरोध, सरकार ने कहा – गरीबी तय करना राज्य का जिम्मेदारी

संसद और राज्‍य विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण से संबंधित कानून के बारे में ईरानी ने कहा कि सरकार इस कानून को पारित करने के पक्ष में है। उन्‍होंने कहा कि उनकी पार्टी ने हमेशा से महिला आरक्षण विधेयक का समर्थन किया है।

ये भी पढ़ें : नीतीश कुमार द्वारा महागठबंधन के भविष्य पर सवाल उठाने से भड़के लालू, कहा – पलटू दगाबाजों को शर्म भी नहीं आती

See here : 

 

ये भी देखें :

About Editor

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*