लोकसभा चुनाव बाद गांधी मैदान में फिर होगी कुर्मी चेतना महारैली : अनिल कुमार

लोकसभा चुनाव बाद गांधी मैदान में फिर होगी कुर्मी चेतना महारैली : अनिल कुमार

कुर्मी समाज में सामाजिक और राजनैतिक चेतना जगाने के लिए 1994 में हुई कुर्मी चेतना महारैली के 25वीं वर्षगांठ पर आज सम्‍मान समारो‍ह का आयोजन राजधानी पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में किया गया, जिसमें राज्‍य भर से आये कुर्मी समाज के लोगों ने शि‍र‍कत किया। इस दौरान छात्रपति शिवाजी महराज की जयंती भी मनाई गई।  

Anil Kumar

इस कार्यक्रम की अध्‍यक्षता आयोजन समिति के संयोजक अनिल कुमार ने की। इस दौरान उन्‍होंने अपने अध्‍यक्षीय संबोधन में कहा कि आज हमारे लिए गौरव की बात है कि 12 फरवरी 1994 में पटना के गांधी मैदान में हुई ऐतिहासिक कुर्मी चेतना महारैली की 15वीं सालगिरह के अवसर पर एकजुट हुए हैं। यह महारैली तब इतिहास में एक मील का पत्‍थर साबित हुई थी। उसी चेतना का परिणाम है कि बिहार की राज्‍य सत्ता के शीर्ष पर पहुंचने का हमें अवसर प्राप्‍त हो सका। तब हमारी राजनीतिक भागीदारी मजबूत थी और विधायकों की संख्‍या 40 हुआ करती थी।

उन्‍होंने कहा कि वर्तमान समय में कुर्मी समाज की राजनीतिक भागीदारी में गिरवाट आई है और आज विधान सभा में हमारे समाज से विधायकों की संख्‍या 10 से 12 के बीच सिमट कर रह गई है। आज कहने को हमारा राज है। सत्ता के शीर्ष पर हमारे समाज से आने वाले नीतीश कुमार हैं, मगर उन्‍होंने समाज के लिए कुछ खास नहीं किया। जिसका नतीजा यह हुआ कि लगातार समाज के लोगों की राजनीतिक भागीदारी कम होती चली गई। सामाजिक, राजनीतिक, व्‍यवसायिक और प्रशासनिक रूप से भी समाज पिछड़ गया। समाज के लोगों को उनका वाजिब हक नहीं मिल रहा है और उन्‍हें किसी तरह‍ से तरजीह नहीं दिया जा रहा है। उल्‍टे समाज के लोगों को परेशान किया जा रहा है। इसलिए आज हमने फैसला लिया कि समाज के उत्‍थान के लिए एक बार फिर से कुर्मी चेतना महारैली का आयोजन लोकसभा चुनाव के बाद गांधी मैदान किया जायेगा। इसमें संपूर्ण बिहार से कुर्मी समाज के लोग शामिल होकर अपनी एकजुटता का संदेश देंगे।

वहीं, कार्यक्रम में मुख्‍य वक्‍ता डॉ ओमकार कटियार ने कहा कि आज सरदार पटेल और डॉ भीमराव अंबेदकर के विचारों का देश बनाने की जरूरत है। उन्‍होंने पुलवामा के शहीदों को याद करते हुए कहा कि वर्तमान समय में देश बहुत संकट के दौर से गुजर रहा है़।  यह राजनीति से प्रेरित है। जिस तरह से सैना पर हमला हुआ, वो निंदनीय है। बावजूद इसके प्रधानमंत्री समेत पूरा भाजपा रैलियों में मस्‍त है। विशिष्‍ट वक्‍ता के तौर पर शामिल होते हुए सरदार सेना के अध्‍यक्ष डॉ आर एस पटेल ने भी संबोधित कर कुर्मी समाज के लोगों का उत्‍साहवर्द्धन किया  और कहा कि भाजपा के समय में ही गुजरात में 200 लोगों की हत्‍या कराई गई थी। वहीं,  पूर्व पीएम अटल जी के समय में जिन आतंकियों पैसे देकर को छोड़ा गया था, वहीं आज हमें फिर से लहुलुहान कर रहे हैं। देश की जनता समझ रही है। इसलिए चुनाव में मोदी सरकार बुरी तरह से हाने वाली है।

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*