वर्दी का रौब भी फीका: ‘तोहे पैयां पडूं तोरी विनती करूं’

आमजन पर रौब गांठने वाले एक वर्दीधारी की ऐसी हालत आखिर क्यों हो गयी जो थाने के अंदर एक पल अपनी पत्नी के पैर पकड़ता तो दूसरे पल अपने कान. पढ़िये पूरी दास्तान

बमबम सिंह: आखिरी बार माफ कर दो प्लीज

बमबम सिंह: आखिरी बार माफ कर दो प्लीज

महफूज रशीद, बेगुसराय से

बेगुसराय नगर थाना मे कुछ एैसे ही हालत एक पुलिसवाले की देखने को मिली, जब वह पत्नी और ससुराल वालों के सामने भीगी बिल्ली बना एक सिपाही, कभी हाथ जोडता, कभी कान पकडता तो कभी पैर पकडता नजर आया. यह ड्रामा पुर्व विधायक, पुलिस अधिकारी और ससुराल वालों के सामने चला. इस सिपाही पर शराब पीकर पत्नी को मारने पीटने का आरोप है. पूर्व विधायक और अपनी ससुराल वालों की लगातार पैर पड़ता, कान पकड़ता और माफी मांगता यह शख्स कोई और नही बल्कि बिहार सरकार का एक सिपाही है.

बाहर भेले ही इसके रौब की लोग चर्चा करते हों पर गुरुवार को मामला एकदम अलग था. जिस पत्नी पर उस सिपाही ने कल अपनी रिवालवर तान दी थी, उसी ने थाने में घुस कर उसे घिग्घी बंधवाने पर मजबूर कर दिया.

बमबम कुमार नामक यह सिपाही मुज्जफरपुर मे एक जज का बाडी गार्ड है. दो बच्चों के बाप इस सिपाही का कुसूर यह है की उसने गुरुवार की रात पत्नी की पिटाई की और यहां तक कि रिवालवर तानने का अपराध किय. इसी बात पर पत्नी के रौद्र रूप ने सिपाही की वो हालत कर दी जिसकी सिपाही को कभी अंदेशा भी नहीं था.

बात इतनी बढ़ गई की पत्नी मैके वालों के साथ थाने पहॅंच गई.फिर क्या था बमबम कुमार की हैकड़ी गुम हो गई. और वह लगातार माफी पर माफी मांगता रहा है.
इस दौरान पत्नी के तेवर सख्त थे और वह उसे हथकड़ी पहनाने पर आमादा थी. महिला का का आरोप है कि पति अक्सर उसे नशे की हालत मे मारता पिटता है.थाने पर घंटों मान मनौअल चलता रहा.

दूसरी तरफ पुलिस इसे पति-पत्नी के बीच महज नोक झोंक मान रही है.

पुलिस का मानना है की पति पत्नी के बीच एैसी नोक झोक तो चलती रहती है.लेकिन इस बीच वहां मौजूद पुलिस अधिकारियों ने बमबम सिंह की पत्नी को मना लिया और उसने अपने पति को इस शर्त पर माफी दे दी कि आइंदा ऐसी हरकत करने पर उसे बख्शा नहीं जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*