वाल्मीकिनगर व्याघ्र अभ्यारण्य में ईको टूरिज्म का होगा विस्तार

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अधिक से अधिक पर्यटकों को आकर्षित करने के उद्देश्य से पश्चिम चंपारण के वाल्मीकि नगर व्याघ्र अभ्यारण्य में ईको टूरिज्म का विस्तार करने के लिए सरकार की ओर से लगातार काम किये जा रहे हैं।

श्री कुमार ने वाल्मीकि नगर में ईको टूरिज्म के विकास के लिए पर्यटन सुविधाओं का शुभारंभ करने के बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुये कहा कि वाल्मीकि नगर टाइगर रिजर्व के प्रति लोगों में खासा आकर्षण है, यह अद्भुत स्थल है। एक तरफ पर्वत तो दूसरी ओर गंडक नदी और साथ में जंगल की हरियाली भी। वास्तव में इससे सुंदर जगह कोई नहीं है। यहां की प्राकृतिक छटा अद्भुत है। यहां ईको टूरिज्म की काफी संभावनाएं हैं, जिसे बढ़ावा देने के लिए हमलोग लगातार काम कर रहे हैं। अभी यहां पर पहले से पर्यटन के लिए काफी व्यवस्था की गई है। कॉटेज बनाये गये हैं, जिनकी ऑनलाइन बुकिंग होती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें बताया गया कि इस वर्ष यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या 45 हजार रही। उम्मीद है कि ईको टूरिज्म का विस्तार होने से लाख से ज्यादा लोग यहां आएंगे। उन्होंने पटना से वाल्मीकि नगर सीधी बस सेवा प्रारंभ करने के संबंध में पूछे जाने पर कहा कि बगहा से वाल्मीकि नगर के बीच में सड़क का निर्माण कराया जा रहा है, कुछ कार्य अभी बाकी है। सड़क निर्माण का कार्य जैसे ही पूर्ण हो जाएगा तो आवागमन में लोगों को और भी सुविधाएं होंगी। श्री कुमार ने कहा कि यहां गंडक नदी के कटाव को रोकने के लिए काम किए जा रहे हैं और जल संसाधन विभाग द्वारा नदी के किनारे बराज तक सड़क निर्माण कराया जा रहा है ताकि पर्यटक आसानी से आ-जा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*