वाह डीए साहब! इस पहल से खुश और महफूज रहेंगे बच्चे

एक साल पहले छपरा में भोजन खा कर 53 बच्चों की मौत हो गयी थी लेकिन बक्सर के डीएम ने बच्चों संग खाना खा कर नयी मिसाल कायम की है. उनकी इस पहल की तारीफ की जनी चाहिए.

साबाश डीएम साहब.खुश हुए बच्चे आपकी इस पहले से

साबाश डीएम साहब.खुश हुए बच्चे आपकी इस पहले से

स्टोरी और तस्वीर बक्सर खबर डॉट कॉम

जिलाधिकारी रमण कुमार मंगलवार को डुमरांव पहुंचे थे। वे डुमरांव कृषि कालेज को देखने गए थे। जहां 24 तारीख को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का आगमन है। इसी बीच दोपहर का समय हो गया था। उन्होंने महावीर चबुतरा विद्यालय में प्रवेश किया।

बच्चों के लिए बन रहे मध्यान को देखा। फिर उनके साथ बैठकर खाने की बात कही। इतना कहते ही विद्यालय के प्रधानाध्यापक सहित सभी लोगों का हलक सूखने लगा। लेकिन मरता क्या न करता। तुरंत नयी थाली और ग्लास मंगाया गया। डीएम रमण कुमार ने बच्चों और अध्यापकों के साथ बैठक सोयाबीन की सब्जी और चावल का स्वाद लिया। इस दौरान वहां मौजूद मीडिया के लोगों ने उनसे पूछा यह आपका पहला प्रयास है? या इससे पहले भी कहीं आपने भोजन किया है। डीएम ने कहा नहीं यह पहला प्रयास है। लेकिन अब आगे से प्रत्येक सप्ताह ऐसा होगा।

किसी ने किसी विद्यालय का नंबर जरुर आएगा। मैने यह सोच कर ऐसा किया है कि अन्य अधिकारी भी अगर विद्यालयों में निरीक्षण को जाते हैं तो वे इसकी जांच करें। भोजन चख कर देखें। उन्होंने किचन में खाद्यान्न के रखरखाव और बगैर ड्रेस के भोजन बना रही मध्यान भोजन रसोइयों को भी फटकार लगायी। साथ ही प्रधानध्यापक क्यामुदिन को सभी कागजात लेकर मिलने को कहा। वैसे इस विद्यालय में पेयजल की व्यवस्था भी अच्छी नहीं है। इस मसले पर वे खास नहीं बोले।

लेकिन बच्चों की उम्मीद है कि विद्यालय में जल्द ही नया चापाकल लग जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*