विलय पर विलाप: शरद के प्रस्‍ताव को लालू ने नकारा

जनता परिवार के विलय की संभावनाओं पर पानी फिरने की आशंका गहराती जा रही है। पूर्व सीएम नीतीश कुमार ‘यादव परिवार’ के विलय का अभियान तेज कर रहे हैं, जबकि लालू यादव, शरद यादव व मुलायम सिंह का पहिया एक लीक पर चलता नजर नहीं आ रहा है। 

मुलायम सिंह ने पहले ही कह दिया है कि उनका दल पार्टी का नाम और चुनाव चिह्न बदलने के लिए तैयार नहीं है। इस बीच शरद यादव ने आज पटना में कहा कि बिहार विधान सभा चुनाव को देखते हुए पहले राजद व जदयू का विलय हो सकता है। शरद यादव के इस प्रस्‍ताव को लालू यादव ने नकार दिया और कहा कि विलय राष्‍ट्रीय स्‍तर पर ही होगा।sharad-yadav-laloo-yadav_13_07_2014

पटना में पत्रकारों से लालू यादव ने कहा कि जनता दल परिवार का राष्ट्रीय स्तर पर विलय किया जायेगा न कि पहले बिहार में राजद और जदयू का विलय होगा। उन्होंने कहा कि विलय के बाद बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी रहेंगे या नहीं, यह बताने वाले वह कौन होते हैं।  राजद अध्यक्ष ने कहा कि बिहार विधानसभा के इस वर्ष होने वाले चुनाव में भाजपा के विजय रथ को वह रोक देंगे। इस बार का विधानसभा चुनाव सिर्फ चुनाव ही नहीं बल्कि इससे देशभर में एक बड़ा संदेश भी जायेगा। चुनाव में भाजपा को करारी हार मिलेगी।

श्री यादव ने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने के बाद काला धन, बेरोजगारी और किसानों की समस्याओं को हल करने का वादा किया था। अपने किये वादों को पूरा करने में भाजपा अब तक पूरी तरह विफल साबित हुई है । उन्होंने कहा कि भाजपा अपने वादों पर से लोगों का ध्यान हटाने के उद्देश्य से समाज को बांटने में लगी हुयी है। अध्यादेश के माध्यम से सरकार चलाया जा रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*