शत्रुघ्न सिन्हा सीबीआई के नए निदेशक रंजीत सिन्हा के बचाव में कूद पड़े

फिल्म एक्टर और भाजपा संसद शत्रुघ्न सिन्हा ने पार्टी लाइन से अलग रास्ता लेते हुए सीबीआई निदिशक की नियुक्ति के पार्टी के विरोध को आधारहीन बताते हुए कहा है कि इस पर हंगामा खड़ा करना उचित नहीं है.

शत्रुघ्न सिन्हा ने नए सीबीआई निदेश रंजीत सिन्हा का बचाव करते हु कहा कि वह एक काबिल और योग्य अधिकारी हैं और उनका विरोध करना उचित नहीं है.

इस बीच रंजीत सिन्हा के पक्ष में शत्रुघ्न सिन्हा के खड़े हो जाने से भाजपा दो खेमे में बंट गयी है. इस से पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता राम जेठमलानी भी रंजीत सिन्हा का समर्थन कर चुके हैं.

विवाद होना ही था: नवनियुक्त सीबीआई निदेशक को हटाने की मांग

हालांकि रंजीत सिन्हा पर चारा घोटाला में लालू का साथ देने का आरोप लगा था. उसके बाद जब लालू रेल मंत्री बने थे तो रंजीत सिन्हा को २००८ में रेलवे सुरक्षा बल का डी जी बना दिया गया था. बाद में जब ममता रेलमंत्री बनीं तो उन्हें हटा दिया गया था.

जबकि भाजपा ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को चिट्ठी लिखकर इस नियुक्ति को रद्द करने की मांग की है.

लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज और राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली की ओर से पीएम को भेजी गई चिट्ठी में कहा गया है कि प्रस्तावित लोकपाल कानून में व्यवस्था है कि सीबीआई डायरेक्टर की नियुक्ति पीएम, विपक्ष के नेता और देश के चीफ जस्टिस की कमिटी के द्वारा होगी. बीजेपी की नाराजगी है कि नए डायरेक्टर को अपॉइंट करने में इस प्रक्रिया का पालन क्यों नहीं किया गया. दूसरी तरफ कांग्रेस का कहना है कि लोकपाल का ड्राफ्ट अभी कानून नहीं बना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*