शशि थरूर क्‍या सच में करेंगे पाकिस्‍तानी पत्रकार मेहर तरार से शादी, जानिये सच

अक्‍सर विवादों में रहने वाले कांग्रेस सांसद व पूर्व मंत्री शशि थरूर की चर्चा आज ट्विटर पर अचानक से तेज हो गई. वजह थी एक अनवेरिफायड अकाउंट @CNNews69 का वह ट्विट, जिसमें कहा गया था कि शादी की शहनाई बजने वाली है. शशि थरूर जल्द ही सेहरा पहनेंगे. मेहर तरार दुबई में हैं. हालांकि ये खबर पूरी तरह से फेक निकली, जिसे 66 फॉलोअर्स वाले पैरोडी अकाउंट पर पोस्‍ट किया गया था.  

नौकरशाही डेस्‍क

मगर जब मेहर तरार ने लोगों को इस पर रिएक्‍ट करते देखा, तो वह चुप नहीं रह सकीं और रि-ट्विट कर कहा कि ये कितना हास्यास्पद है कि लोग 66 फॉलोअर्स वाले पैरोडी अकाउंट के न्यूज़ पर रिएक्ट कर रहे हैं. अजीब लगता है कि आज के जमाने में लोग किसी भी चीज़ की पड़ताल किये बिना उसपर बड़ी आसानी से भरोसा कर ले रहे हैं. हालांकि मेहर तरार के ट्वीट के बाद पैरोडी अकाउंट ने अपना हैंडल चेंज कर लिया है. साथ ही बायो में लिखा है ‘कंप्लीट पैरोडी’, फेक. पैरोडी अकाउंट ने साफ किया कि वह किसी भी न्यूज़ चैनल या वेबसाइट से नहीं जुड़ी हुई है.

इस फेक ट्विट पर ट्रोल का शिकार हुई मेहर ने एक जवाब में लिखा – तौबा, तो इस तरह वे असत्‍यापित खबर फैलाते हैं, जिनमें कुछ बहुत खतरनाक और आग लगाने वाले होते हैं. मालूम हो कि साल 2014 में कांग्रेस सांसद शशि थरूर की पत्‍नी सुनंदा पुष्कर का शव संदिग्ध हालात में दिल्ली के होटल ‘लीला’ के कमरा नंबर 345 से मिला था. तब पाकिस्‍तानी पत्रकार मेहर तरार के साथ उनकी दोस्ती के काफी चर्चे थे. कई मीडिया रिपोर्ट्स में मेहर तरार को सुनंदा पुष्कर और शशि थरूर के बीच तनाव की वजह भी बताया गया था. सुनंदा अपने पति और एक पाकिस्तानी महिला पत्रकार के बीच कथित अफेयर से दुखी थीं.

सुनंदा पुष्कर ने अपने पति थरूर पर आरोप लगाया था कि उनके पति का पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार से ‘अफेयर’ है, इसलिए उन्हें तलाक चाहिए. हमारे अकाउंट्स हैक नहीं हुए हैं और मैं ये ट्वीट भेज रही हूं. मैं इसे बर्दाश्‍त नहीं कर सकती. यह पाकिस्‍तानी महिला आईएसआई की एजेंट है जो मेरे पति का पीछा कर रही है. इससे पहले थरूर ने कहा था कि उनका ट्विटर अकाउंट हैक कर लिया गया था और तरार को मैसेज उन्होंने नहीं भेजे थे.

इस पर मेहर तरार ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि मुझे उस औरत के बारे में कुछ नहीं कहना जिसका दिमाग खराब हो गया है. आईएसआई की एजेंट या पीछा करने वाली औरत होने का इल्‍जाम लगाए जाने के बाद मुझे कुछ नहीं कहना. इससे पता चलता है कि वो औरत कैसी है जिसने मेरे ऊपर इल्‍जाम लगाए हैं. अपने पति का नाम किसी दूसरी औरत से जोड़ना गंदी मानसिकता का परिचायक है. मैं आईएसआई, रॉ, सीआईए या केजीबी की एजेंट नहीं हूं.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*