शहाबुद्दीन की रिहाई: दुलहन की तरह सजा सीवान, तरोण द्वार और कटआउट से पटा शहर

आखिरकार रिहा हो गए बाहुबली नेता शहाबुद्दीन .हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद  आखिरकार  शहाबुद्दीन को रिहा कर दिया गया.shahbuddin-jail-

शिवानंद गिरी

शहाबुद्दीन ने मीडिया से कहा, ‘मेरी तरह सभी जानते हैं कि मैं पूरी तरह निर्दोष है और मुझे फंसाया गया था. मैं भला क्यों अपनी छवि बदलूंगा? मैं पिछले 26 साल से जैसा हूं, जनता ने मुझे स्वीकार किया है. मुझे अदालत ने जेल भेजा था और उसी ने मुझे जमानत भी दी.’
हालांकि जमानत मिलने के बाद  शहाबुद्दीन दिनभर अपने सामानों की पैकेजिंग में लगे रहे.

शहाबुद्दीन की रिहाई को लेकर एक दिन पूर्व से  भागलपुर में अलग-अलग गतिविधियां होती रही. एसएसपी मनोज कुमार ने खुद विक्रमशिला सेतु तक की सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लिया. पुलिस की गाड़ी लगातार गश्त करती रही.

सिवान जिला परिषद् की पूर्व अध्यक्ष व राजद नेत्री लीलावती गिरि के नेतृत्व में सैकड़ों समर्थकों ने भागलपुर में अपना डेरा डाल रखा था .
शहर में सांसद के समर्थकों ने होटल के कई कमरे बुक करा रखे थे. तिलकामांझी चौक के दो होटलों सहित कचहरी चौक और स्टेशन चौक के पांच होटलों में सीवान सहित अन्य जगहों से आए समर्थकों के लिए कमरे बुक कराए गए थे.

बाहुबली शहाबुद्दीन के रिहाई की खबर आते ही पूरे सीवान में शानदार स्‍वागत की तैयारी की गई है. 11 साल बाद जेल से रिहा हो रहे पूर्व राजद सांसद के स्‍वागत में पूरे सीवान की सजावट की गई है. कहीं तोरण द्वार  बनाए गए हैं. तो कहीं  शहाबुद्दीन के कटआउट लगाए गए हैं.कहीं बैंड तो कहीं ढोल तासों के साथ लोग अपने नेता के स्वागत में खड़े हैं.सिवान पुलिस भी सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था कर ली है .

बहरहाल,पूर्व सांसद की रिहाई का सिवान की सियासत पर कितना व कैसा असर पड़ेगा  यह  तो आने वाला   समय बताएगा.

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*