शिक्षक नियुक्ति : नौकरी तो है अभ्यर्थी ही नहीं मिले

चुनाव अधिसूचना जारी होने से पहले बिहार सरकार शिक्षकों को नियुक्ति पत्र थमाने में लगी है इसके बाद भी 40 हजार से ज्यादा सीटें खाली रह गयी हैं.teacher-01

प्राथमिक और मध्य विद्यालयों के लिए 22 जिलों में नियुक्ति पत्र बांट दिये हैं, इसके बाद भी 40 हजार से अधिक सीटें भरी नहीं जा सकी हैं. रिक्तियों की संख्या लगभग 60 हजार थीं जबकि मात्र 16 हजार अभ्यर्थियों के बीच नियुक्ति पत्र बांटा जा सका है.

शिक्षा विभाग में जो आंकड़े जिलों से प्राप्त हुए हैं उनके अनुसार पंचायत स्तर के शिक्षकों को छोड़कर नगर निगम, नगर पंचायत के लिए जिला स्तर पर लगे कैंप में 580, प्रखंड स्तर के शिक्षकों के लिए लगे कैंप में 7,609 और प्रखंड स्तर के पंचायत शिक्षकों के 6,190 पद खाली रह गये. इसी तरह दूसरे चरण में पंचायत स्तर के शिक्षकों के पदों को छोड़ कर 20,444 पदों में से 6,065 पदों पर नियुक्ति पत्र बांटे गये हैं. इसमें 14,379 पद रिक्त रह गये.

शिक्षा विभाग के सूत्रों का कहना है कि एक ही अभ्यर्थी ने एक से ज्यादा नियोजन इकाइयों में अप्लाई किया था लेकिन जब नियुक्ति का समय आया तो उसने एक ही जगह नियुक्ति पत्र लिया, क्योंकि वह एक से अधिका जगहों से नियुक्ति पत्र ले भी नहीं सकता था, इसलिए बड़ी संख्या में पद रिक्त रह गये. इसी प्रकार उर्दू और महिला सीटों पर भी आवश्यकता के अनुरूप अभ्यर्थी नहीं मिले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*