संपर्क यात्रा के लिए किसानों को मिला टास्‍क

पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पर आज बिहार प्रदेश जदयू के किसान प्रकोष्ठ की बैठक आयोजित हुई। बिहार प्रदेश और जिला से आमंत्रित किसान प्रकोष्ठ के पदाधिकारिओं ने बैठक में भाग लिया। 13 से नवम्बर 29 तक नीतीश कुमार बिहार के 34 जिलों में सम्पर्क यात्रा करेंगे, जिसमें गाँव, पंचायत, प्रखंड, जिला और प्रदेश स्तर के कार्यकर्ताओं को जिलेवार तौर पर आमंत्रित किया गया है। आज की बैठक में प्रकोष्‍ठ को संपर्क यात्रा के दौरान कई महत्वपूर्ण जिम्‍मेवारी सौंपी गयी।kisha

 

बैठक को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि प्रदेश की 76 फीसदी आबादी कृषि पर निर्भर है और इसमें सभी जाति, धर्म, और वर्ग के लोग सम्मिलित हैं। अतः किसान प्रकोष्ठ का कार्यक्षेत्र प्रदेश बहुत व्यापक है और सभी समुदायों से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि बिहार में प्रत्येक स्थान पर उत्पादकता बढ़ी है। अनेक किसानों ने धान, गेहूं, आलू इत्यादि के उत्पादन में राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय विश्व रिकार्ड ध्वस्त किये हैं, राज्य के कृषि रोडमैप के माध्यम से किसानों को खुशहाल बनाने का विस्तृत और प्रभावशाली खाका तैयार हुआ है, जिसपर सरकार ने लगातार काम किया है।

 

श्री कुमार ने उम्मीद जताई कि संपर्क यात्रा में किसान प्रकोष्ठ के साथियों के सहयोग से हर गाँव से पार्टी के कार्यकर्ता जिला के राजनैतिक सम्मेलन में पहुंचेंगे। उन्होंने कहा कि राजनीति व्यवसाय के लिये नहीं है, बल्कि सेवा के लिए है। जदयू राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की प्रेरणा और सिद्धांत के आधार पर न्याय के साथ विकास करने वाली पार्टी है और इसके आधार पर बिहार में तीव्र विकास और समरस समाज बनाने में काम करती रही है। श्री कुमार ने कहा कि पार्टी ने डा० लोहिया और लोकनायक जयप्रकश नारायण ने गाँधी जी के विचारों को मूर्त रूप देकर समाज में उतारा। इस बैठक में प्रदेश अध्‍यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, महासचिव रवींद्र सिंह, नवीन आर्या, सुनील कुमार आदि मौजदू थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*