सामने आई फर्जी आईएएस रूबी चौधरी

फर्जी आईएएस के रूप मे आईएएस एकेडमी मे प्रशिक्षण से छह महीने में फरार रूबी चौधरी ने मीडिया के सामने आ कर बयान दिया है कि उस से नौकरी के लिए 5लाख रुपये लिये गये। उसका यह भी कहना है कि इस मामले में एफआईआर होने के बाद चुप रहने के लिए 5 करोड़ का आफर दिया गया था।image

भास्कर डाट काॅम के मुताबिक रूबी चौधरी नाम की इस महिला ने आईपीएस एकेडमी के अधिकारियों पर उसे नौकरी देने के नाम पर 5 लाख रुपए लेने और इस मामले में अपना मुंह बंद रखने के लिए 5 करोड़ रुपए ऑफर किए जाने के आरोप लगाए हैं। रूबी का कहना है कि मुझे अकादमी में ट्रेनी के तौर पर 7 महीने तक रखा गया लेकिन नौकरी नहीं दी गई। उसका दावा है कि अगर इस मामले में मेरी कोई गलती हो तो मुझे जेल भेज दिया जाए। इस मामले में केंद्र सरकार ने भी एकेडमी के डिप्युटी डायरेक्टर सौरभ जैन से जवाब तलब करने का फैसला लिया है।

नौकरी देने के लिए थे 5 लाख रुपए
मीडिया के सामने ट्रेनी आईपीएस बताई जा रही रूबी का आरोप है कि इस मामले में मेरी गलती सिर्फ इतनी थी कि मैंने अकादमी के एक अफसर को नौकरी देने के नाम पर 5 लाख रुपए दिए थे। आईपीएस अकादमी में संदिग्ध रूप से ठहरने के सवालों का रूबी ने कोई जवाब नहीं दिया लेकिन उसने आरोप लगाया कि इस पूरे मामले में मुंह बंद रखने के लिए मुझे 5 करोड़ रुपए देने का ऑफर किया गया था, लेकिन मैने इस खारिज कर दिया। मेरे खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज होने के बाद अब यह मेरी रेपुटेशन का सवाल बन गया है। आरोप लगाने वाली महिला ने इस मामले में किसी का नाम नहीं लिया है।

कौन है रूबी चौधरी
रूबी चौधरी नाम की इस महिला के खिलाफ मसूरी की आईएएस एकेडमी में फर्जी दस्तावेजों के जरिए 7 महीने तक रुकने और फिर रहस्यमय तरीके से फरार हो जाने के आरोप हैं। इस मामले में एकेडमी ने रूबी चौधरी के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। एकेडमी के मुताबिक रूबी चौधरी पुत्री सत्यवीर सिंह, निवासी ग्राम कुटबा, जिला मुजफ्फरनगर (उत्तर प्रदेश) एकेडमी में रह रही थी। आरोप है कि उसने फर्जी दस्तावेज के आधार पर स्वयं को प्रशिक्षु आईएएस अधिकारी बताते हुए सितंबर-2014 में एकेडमी में प्रवेश लिया था। 27 मार्च, 2015 को यह महिला अचानक गायब हो गई। उसके गायब होने के बाद जब उसके कमरे की तलाशी ली गई, तो वहां प्रशासनिक प्रशिक्षण संस्थान (एटीआई) नैनीताल की तरफ से जारी एक पहचान पत्र मिला, जिसमें रूबी को एसडीएम दिखाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*