सामाजिक समरसता का ध्‍यान रखेगी सरकार

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज स्पष्ट किया कि दलितों एवं पिछड़ी जातियों के अधिकारों एवं उनके कल्याण के लिए काम करते हुए समरसता का ध्यान रखा जाएगा और यह सुनिश्चित किया जाएगा कि बाकी जातियों का नुकसान ना हो।


श्री मोदी ने भाजपा संसदीय दल की नई दिल्‍ली में हुई बैठक में राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने संबंधी विधेयक के संसद के दोनों सदनों से पारित होने और अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण विधेयक के लोकसभा से पारित होने को लेकर देश भर में 15 से 31 अगस्त तक सामाजिक समरसता पखवाड़ा मनाए जाने की घोषणा की।  इस मौके पर श्री मोदी ने यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का उद्देश्य समरसता के साथ सामाजिक न्याय है। पिछड़ी एवं दलित जातियों के कल्याण के साथ बाकी जातियों का नुकसान नहीं हो। यही सबका साथ सबका विकास के सिद्धांत का आधार है।

सूत्रों ने बताया कि संसदीय दल की बैठक में श्री गणेश सिंह की अगुवाई में सभी पिछड़े वर्ग के सांसदों ने अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने संबंधी विधेयक के दोनों सदनों में पारित होने पर श्री मोदी को बड़ी फूलमाला पहना कर बधाई दी। वहीं पूर्वांचल के सांसदों ने वाराणसी में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के आयुर्विज्ञान संस्थान को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) का दर्जा दिये जाने के निर्णय के लिए श्री मोदी का अभिनंदन किया। सूत्रों के अनुसार राज्यसभा सांसद श्री भूपेन्द्र यादव ने ओबीसी आयोग संबंधी विधेयक को पारित कराने के लिए एक प्रशंसा प्रस्ताव पेश किया, जिसका अनुमोदन श्री वी मुरलीधरन ने किया। केन्द्रीय मंत्री निरंजन ज्योति और सांसद श्री हुकुमदेव नारायण यादव ने इसका समर्थन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*