सिर्फ पत्थर दिल ही नहीं हैं खाकी वाले!

कभी -कभी बिहार की पुलिस क्रूर व अमानवीय तो दिखती है पर कई मौके ऐसे होते हैं जिसमें पुलिस और उसके अधिकारियों का मानवीय चेहरा देख उनके प्रति श्रद्धा उमड़ पड़ता है।

थानाध्यक्ष रंजीत सिंह के साथ ग्रामीण और आरजे शशि

थानाध्यक्ष रंजीत सिंह के साथ ग्रामीण और आरजे शशि

 विनायक विजेता 

ऐसा ही मौका था मंगलवार को पटना के बाईपास थाना के पुलिसकर्मियों की मानवीयता का जब थानाध्यक्ष रंजीत कुमार की अगुवाई में पुलिसकर्मियों ने थाने के पड़ोस स्थित महादेव स्थान में झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले और बारिस के कारण विस्थापित हुए लगभग 60 गरीब परिवार को मदद मुहैया कराई।

 

रीडियो मीर्ची के उद्घोषक आर जे शशि और थानाध्यक्ष रंजीत कुमार की पहल पर सामने आए कई समाजसेवियों की मदद से इन विस्थापित परिवारों के बीच प्लास्टिक का तिरपाल, सत्तू के पैकेट, वस्त्र, चना एवं अन्य सामग्रियां तो बांटी ही गई, थानाध्यक्ष की पहल पर इन परिवारों के लगभग दो दर्जन बच्चों का सरकारी स्कूल में नामांकन कराया गया ताकि पढाई के साथ मध्यान भोजन मिल सके।

 

राज्य के डीजीपी पी के ठाकुर को जैसे ही अपने एक थानाध्यक्ष के इस मानवीय रवैये की जानकारी हुई उन्होंने थानाध्यक्ष का उत्साहवर्धन किया और राजय के तमाम थानाध्यक्षों को इससे सीख लेने पुलिस-पब्लिक फ्रेंडली बनने की नसीहत दी।

पटना के एसएसपी मनु महाराज भी अपने एक थानाध्यक्ष के लोकोपयोगी और मानवीय कार्य से काफी अल्हादित हैं। उन्होंने व्यक्तिगत रुप से थानाध्यक्ष को फोन कर इस तरह के मानवीय कार्य के लिए बधाई .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*