सीट बंटवारे पर BJP–JDU ने उठाया पर्दा, तेजस्‍वी ने कहा – चाहे ट्रम्प को भी मिला लें, जनता सबक सिखाएगी

NDA में BJP और JDU के बीच सीट बंटवारे को लेकर पिछले कई दिनों लगाये जा रहे कयासों पर से आज पर्दा हट गया है. दिल्‍ली में आज नीतीश कुमार की पीएम नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह से मुलाकात के बाद अब से कुछ देर पहले NDA में सीट बंटवारे फॉर्मूले का एलान हो गया है. इसके अनुसार, खुद अमित शाह ने नीतीश कुमार के साथ दिल्‍ली में मिलकर सीटों बंटवारे की घोषण की. इसके तहत अब भाजपा 17, जदयू 16, लोजपा 5 और रालोसपा 2 सीटों पर बिहार में चुनाव लड़ने पर सहमति बनी है. 

नौकरशाही डेस्क

उधर, NDA के सीट बंटवारे के घोषणा के बाद राजद नेता सह पूर्व उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव ने चुटकी लेते हुए कहा कि’RJD के बढ़ते जनाधार से हाथ पैर फूल गए हैं. वे आनन – फानन में वोट कटाव को रोकने का प्रयास कर रहे हैं. तेजस्‍वी ने कहा कि बिहार क्रांति और बदलाव की धरती है. चाहे ट्रम्प को भी मिला लें,जनता सबक सिखाएगी.  इससे पहले दिल्‍ली में समझौते की घोषणा खुद भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह और बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने की.

इस मौके पर अमित शाह ने कहा कि राज्‍य में एनडीए बड़ी ताकत बनेगा. उन्‍होंने कहा कि सहयोगियों को सम्‍मानजनक सीटें मिलेंगी. शाह ने संवाददाताओं को बताया कि बहुत दिनों से बिहार में लोकसभा चुनाव के संदर्भ में सभी साथी दलों से चर्चा चल रही थी. आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ इस बारे में विस्तृत चर्चा हुई और यह तय हुआ कि भाजपा और जदयू बराबर बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगे.

बता दें कि बिहार में लोकसभा की 40 सीटें हैं. साल 2014 लोकसभा चुनाव में जेडीयू बीजेपी से अलग चुनाव लड़ी थी और बीजेपी राज्य में एनडीए का सबसे बड़ा घटक दल रहा था. एनडीए में बीजेपी के साथ उपेंद्र कुशवाह की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी और रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी के बीच सीटों का बंटवारा हुआ था. पासवान ने 7 सीटों पर चुनाव लड़ा था और रालोसपा ने 3 सीटों पर चुनाव लड़ा था. यानि 30 सीटों पर बीजेपी ने अपने प्रत्याशी मैदान में उतारे थे. लेकिन इस बार नीतीश कुमार के एनडीए में आने के बाद से रालोसपा और एलजेपी के बीच सीट बंटवारे को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई थी.

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*