सुशील मोदी ने रघुवंश प्रसाद दिया खुला ऑफर, प्रेम कुमार बोले – ट्रेन छूट गई

सवर्ण आरक्षण पर राजद के वरिष्‍ठ नेता रघुवंश प्रसाद  के बयान के बाद बिहार भाजपा के वरिष्‍ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने उन्‍हें खुला ऑफर दे दिया है। साथ ही कहा है कि रघवंश प्रसाद जैसे नेता की जगह राजद में नहीं, एनडीए में है। वहीं, बिहार के कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार ने कहा कि रघुवंश प्रसाद की ट्रेन छूट गई है।

नौकरशाही डेस्‍क

बुधवार को रघुवंश प्रसाद ने कहा था कि हमारी पार्टी सवर्णो के आरक्षण के खिलाफ नहीं है। हमारी पार्टी से सवर्ण आरक्षण मामले में चूक हुई है और हम इस पर विचार करेंगे। इसके बाद राजनीति शुरू हो गई। इसी क्रम में आज सुशील कुमार मोदी ने राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह को खुला ऑफर देते हुए कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह को NDA में शामिल हो जाना चाहिए। रघुवंश बाबू जैसे नेता की जगह राजद में नहीं है। NDA में रघुवंश प्रसाद सिंह को मिलेगा पूरा सम्मान मिलेगा।

हालांकि उनसे पहले आज ही भाजपा कोटे से बिहार सरकार में मंत्री डॉ प्रेम कुमार ने राजद पर निशाना साधते हुए कहा था कि रघुवंश प्रसाद आरक्षण पर अब वोट बैंक की राजनीति कर रहे हैं। जब सबने समर्थन किया, तब रघुवंश प्रसाद विरोध में थे। ट्रेन छूट गई है। अब समर्थन करने से कोई फायदा नहीं है।

मालूम हो कि रघुवंश प्रसाद ने सवर्ण आरक्षण के पक्ष में अपनी बात रखी थी, जबकि राजद की ओर से लोकसभा में सांसद जयप्रकाश नारायण, राज्यसभा सांसद मनोज झा ने खुलकर विरोध किया। यहीं नहीं अभी पार्टी के सर्वेसर्वा तेजस्वी यादव ने सवर्णों को 10 प्रतिशत आर्थिक आधार पर आरक्षण दिए जाने का विरोध किया था। कहा था कि यह आरक्षण दलित, पिछड़ों और आदिवासियों को मिलने वाले आरक्षण को खत्म करने की साजिश है।

अपने नेता के बयान पर राजद सांसद मनोज झा ने सफाई दी थी और कहा था कि पार्टी की आधिकारिक राय होती है और मैं पार्टी का मैसेंजर हूं। राज्यसभा में जो मैंने राय रखी इसके लिए मेरे पास पार्टी नेता का मैसेज था।  दस्तावेज और अध्ययन के बाद ही पार्टी की राय रखता हूं, इसमें कोई कंफ्यूजन नहीं। रघुवंश बाबू ने जो कहा वह उनकी राय है, लेकिन मैंने पार्टी की आधिकारिक राय सदन में रखी, जो पार्टी के ट्वीटर हैंडल पर भी है। रघुवंश बाबू बहुत उम्दा सोच के बेबाक राय रखने वाले समाजवादी नेता हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*