स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना: पांच लाख छात्रों को मिलना था लाभ, 1000 छात्रों को भी नहीं मिला

स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना में सरकार द्वारा 2016-17 में चार लाख रुपये प्रति विद्यार्थी की दर से पांच लाख छात्र छात्राओं को ऋण दिया जाना था
नौकरशाही डेस्क, पटना

स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना में सरकार द्वारा 2016-17 में चार लाख रुपये प्रति विद्यार्थी की दर से पांच लाख छात्र छात्राओं को ऋण दिया जाना था

स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना में सरकार द्वारा 2016-17 में चार लाख रुपये प्रति विद्यार्थी की दर से पांच लाख छात्र छात्राओं को ऋण दिया जाना था

बिहार में स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का बहुत बुरा हाल है. सरकार ने सात निश्चय के तहत इस योजना को बनाया लेकिन उसका हश्र यह है कि पांच लाख छात्रों को योजना का लाभ मार्च तक मिल जाना था लेकिन एक हजार भी इससे लाभ नहीं उठा सके. स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना में सरकार द्वारा 2016-17 में चार लाख रुपये प्रति विद्यार्थी की दर से पांच लाख छात्र छात्राओं को ऋण दिया जाना था क्यों नहीं अभी तक एक हजार को भी इसका लाभ मिल सका? यह प्रश्न विधान परिषद में जब विपक्ष ने उठाया तो सरकार की ओर से चंद्रिका राय ने इसका जवाब देते हुए बताया कि अब तक 10576 आवेदन मिले जिसमें से 717 को ऋण की स्वीकृति मिली. 25.48 करोड़ रुपये ऋण दिये गये. अब नियमों में ढील दी गयी है और आधार-पैन कार्ड की आवश्यकता समाप्त कर दी गयी है.
पटना डेंटल कॉलेज का बुरा हाल, दो बार बंद करना पड़ा कॉलेज
पटना डेंटल कॉलेज का बुरा हाल क्यों है? क्यों दो बार उस कॉलेज को पढ़ाई बंद करनी पड़ी. सरकार क्यों नहीं संज्ञान लेती है. दिलीप कुमार जायसवाल ने जब विधान परिषद में ध्यानाकर्षण प्रस्ताव में सवाल पूछे तो मंत्री की आेर से चंद्रिका यादव ने जवाब देते हुए कहा कि हमलोग वहां की स्थिति की बेहतरी में लगे हुए है. नई नियुक्तियां की गयी है, मशीनें मंगवाई गयी है, अब वहां डेंटल इंप्लांट की भी व्यवस्था हमलोग कराएंगे.
इन ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के भी मिले जवाब-
राजद के सुबोध कुमार ने ध्यानाकर्षण में कहा हाजीपुर के रामाशीष चौक से संचालित होने वाले बसों से निजी व्यक्ति अवैध वसूली कर रहे हैं. एक ही परमिट पर कई बसों का संचालन भी किया जा रहा है. कई बार खून खराबा हो चुका है. कुछ अधिकारियों का संरक्षण है. इसपर जवाब देते हुए परिवहन मंत्री चंद्रिका यादव ने कहा कि डीएम वैशाली को इसके लिए समुचित निदेश दिये गये हैं. अपर समाहर्ता, उप विकास आयुक्त और अनुमंडल पदाधिकारी की एक टीम जांच कर रिपोर्ट देगी. सदस्य दिलीप चौधरी ने ध्यानाकर्षण में ललित नारायण मिथिला विवि मुख्यालय में पहले गृह विज्ञान में स्नात्तकोत्तर की पढ़ाई होती थी उसे फिर से शुरू कर स्थायी स्वीकृति के सवाल किये तो शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने आवश्यक कार्यवाही करने का भरोसा दिलाया. पार्षद रामवचन राय ने स्वतंत्रता सेनानी मुंगेरी लाल की कुर्जी में आदमकद प्रतिमा स्थापित करने पर सरकार का व्यकतव्य मांगा तो बिजेंद्र यादव ने कहा कि कमिश्नर की अध्यक्षता में कमेटी स्थल चयन करती है. उनकी ओर से कोई अनुशंसा मिली नहीं है. आप कमिश्नर को चिट्ठी लिख दीजिए. पार्षद नवल किशोर यादव द्वारा मुजफ्फरपुर के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी नीता पांडे के खिलाफ गड़बड़ियों पर जवाब मांगा तो शिक्षा मंत्री ने बताया कि उन्हें निलंबित कर दिया गया है. एक कमेटी जांच भी कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*