हत्यारे की मां मनोरमा: कभी किस्मत पर करती थीं गर्व, आज तकदीर पर रोने को मजबूर

कभी बिंदी यादव की तूती बोलती थी. राजनीतिक रसूख इतना कि पत्नी मनोरमा देवी को जदयू का एमएलसी बनवाया. बेटे रॉकी ने आदित्य की हत्या की तब सारी सलतनत छिन्न-भिन्न हो गयी. बेटे को उम्रकैद, पति को पांच साल की सजा. अब इसमें नया मामला यह कि निलंबित मएलसी मनोरमा पर पुलिस ने एक और एफआईआर ठोक दिया है.
यह एफआईआर  आधिकारिक सीमा से ज्यादा कारतूस रखने के आरोप में दर्ज की गयी है. पुलिस ने मई 206 में एक रेड के दौरान पाया था कि मनोरमा और उनके पति को पिस्टल और राइफल के लिए आवंटित सीमा से ज्यादा कारतूस पाया गया था.
पाठकों को याद होगा कि पिछले वर्ष मनोरमा के बेटे रॉकी ने आदित्य सचदेवा नामक एक युवक की इसलिए हत्या कर दी थी कि उसने रॉकी की कार को आगे बढ़ने के लिए साइड नहीं दिया था.
इस हत्याकांड पर स्थानीय अदालत ने पिछले दिनों ही सजा सुनाई है. रॉकी को इस मामले में उम्र कैद मिली है जबकि पति बिंदी यादव को पांच साल की सजा हुई है. इस हत्याकांड के बाद जदयू ने मनोरमा को निलंबित कर दिया था.
अभी मनोरमा इन जख्मों से उभरी भी नहीं हैं कि उन पर एक और एफआईर हो गयी है.
कौन हैं मनोरमा
अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रही है  मनोरमा देवी कभी किस्मत की धनी हुआ करती थीं. ट्रक ड्राइवर हजार सिंह ने एक ढ़ाबे वाले की बेटी से शादी की थी. मोरमा उसी ट्रक ड्राइवर की बेटी हैं. ट्रक ड्राइवर की साधारण बेटी से एमएलसी तक का सफर तय करने में बिंदी यादव की बड़ी भूमिका थी. बिंदी यादव ने 1989 में मनोरमा से शादी की थी. उस समय बिंदी यादव  का आतंक था. बिंदी यादव का रसूख लगतार बढ़ता गया और उन्होंने पत्नी मनोरमा को एमएलसी तक बनवा दिया. जब किस्मत ने  अंगड़ाई ली तो आज बेटा, पति जेल में हैं और अभ मनोरमा के भी बुरे दिन शुरू हो गये हैं. गुजरते वक्त के साथ जब मनोरमा और उनका परिवार करोड़ों में खेलते हुए बेटे रॉकी को पोसा पाला. रॉकी शराब के नशे और महींगी कारों का शौकीन निकला. और मई 2016 में उसने आदित्य की इसलिए हत्या कर दी कि उसने राकी की कार को आगे जाने के लिए पास नहीं दिया था. आज राकी जेल में है, पति बिंदी भी जेल में हैं. अब मनोरमा के दिन भी बुरे हो चुके हैं.
 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*