हर भारतीय को बैंक से जोड़ने का हुआ शुभारंभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को ‘प्रधानमंत्री जन-धन योजना’ का शुरभारंभ कर दिया है। इस योजना के तहत देश में जिन लोगो के पास अब तक बैंक अकाउंट नहीं हैं, उन सभी का  बैंक अकाउंट खोला जा रहा है।इस मौके पर नरेंद्र मोदी ने कहा कि एक दिन में डेढ़ करोड़ खाते खोलना रिकॉर्ड है। ये बीमा सेक्टर के लिए भी रिकॉर्ड है कि एक दिन में डेढ़ करो़ड़ लोगों का दुर्घटना बीमा हुआ। उन्होंने कहा कि इस योजना का नाम सुझाने के लिए इनाम पाने वालों में ज्यादातर गैर-हिंदी भाषी हैं,  लेकिन उन्होंने नाम हिंदी में दिया है। यह राष्ट्रीय एकजुटता है।jan dhan yojana

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि जन-धन योजना की बदौलत गरीबों को गरीबी से लड़ने के लिए नई और अधिक शक्ति मिलेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि 26 जनवरी, 2015 से पहले खाता खुलवाने वालों को एक लाख रुपये के दुर्घटना बीमा के अलावा 30,000 रुपये का जीवन बीमा भी मिलेगा।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार का लक्ष्य है कि योजना के पहले दिन करीब 1 करोड़ लोगों को यह सुविधा मुहैया कराई जाए। इस योजना के तहत पूरे देश में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने करीब 77 हजार शिविर लगाए गए हैं। इस योजना को एक साथ 600 जिलों में लॉन्च किया गया।इस योजना के तह पूरे देश में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने करीब 60 हजार शिविर लगाए गए। इस योजना को एक साथ 600 जिलों में लॉन्च किया गया।

 

इस योजना के तहत हर खाताधारक को एक डेबिट कार्ड और एक लाख रुपये का दुर्घटना बीमा कवर मिलेगा। आगे चलकर उन्हें बीमा और पेंशन उत्पादों के दायरे में भी लाया जाएगा।प्रधानमंत्री जन-धन योजना का  उद्देश्य देश में सभी परिवारों को बैंकिंग सुविधाएं मुहैया कराना और हर परिवार का एक बैंक खाता खोलना है। इस योजना के तहत कम-से-कम 7.5 करोड़ परिवारों को कवर किए जाने का अनुमान है।यह मिशन दो चरणों में लागू किया जाएगा। पहला चरण 15 अगस्त 2014 से 14 अगस्त 2015 तक होगा। दूसरा चरण 15 अगस्त 2015 से 14 अगस्त 2018 तक होगा।

 

नहीं आए मांझी

प्रधानमंत्री जन धन योजना के शुभारंभ बिहार के मुख्यमंत्री सीएम जीतन राम माझी नहीं पहुंचे। योजना का शुभारंभ उन्हीं के हाथों किया जाना था। उनके नहीं पहुंचने पर केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने योजना का शुभारंभ किया। रामविलास पासवान ने इस मौके पर कहा कि इस योजना से देश को लोगों का काफी विकास होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*