हाईकोर्ट: इन नौकरशाहों को हिरासत में लेकर पेश करो

उत्तर प्रदेश की नौकरशाही के रवैये से नाराज लखनऊ हाईकोर्ट ने छह अधिकारियों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर उन्हें कस्टडी में अदालत में पेश करने के निर्देश दिया हैं.

जावेद उसमानी पर भी है अवमानना का मामला

जावेद उसमानी पर भी है अवमानना का मामला

जबकि एक अन्य मामले में मुख्य सचिव जावेद उस्मानी को अवमानना नोटिस जारी किया है.

पीठ ने निर्देश दिया है कि महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य डीके श्रीवास्तव की सेवा पुस्तिका में प्रतिकूल प्रविष्टि दर्ज करें.
उच्च न्यायालय की खंड पीठ के न्यायमूर्ति सुधीर अग्रवाल ने भिन्न- भिन्न समय पर तैनात रहे अनेक विभागों के प्रमुख सचिवों के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी कर संबंधित मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेटों को आदेश दिया है कि उनकी गिरफ्तारी कराकर अदालत में उपस्थित कराना सुनिश्चित करें. इन प्रमुख सचिवों में रवीन्द्र सिंह, अवनीश कुमार अवस्थी शामिल हैं साथ ही पीठ ने आइएएस, निदेशक पंचायती राज सौरभ बाबू, सचिव इंटरमीडिएट शिक्षा जितेन्द्र कुमार, यूपी कोऑपरेटिव फेडरेशन के प्रबंध निदेशक सुभाष चंद्र शर्मा, नार्थ मेंटीनेंस टेलीफोन के महाप्रबंधक एके टंडन, लोकनिर्माण विभाग के इंजीनियर इन चीफ यूके सिंह को अवमानना मामलों में अदालत में हाजिर होने को कहा है.

इसके अलावा पीठ ने बहराइच के डीआइजी कार्मिक कवीन्द्र प्रताप सिंह, पुलिस अधीक्षक बीके यादव, निदेशक उद्यान दिनेश चन्द्र, आइजी रजिस्ट्रेशन आलोक कुमार, गोंडा के जिला विद्यालय निरीक्षक शिवलाल के खिलाफ गिरफ्तारी आदेश जारी कर सुनवाई के समय अदालत में उपस्थित कराने के आदेश दिए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*