हाल ए पटना पे रोना आया

मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी पटना के जल जमाव की समस्या से परेशान हैं. कई स्तरों पर जलनिकासी चल रही है.लेकिन अभी भी कई इलाके इसकी चपट में हैं.

पटना की पुलिस कॉलोनी:जीवन बना जहन्नुम

पटना की पुलिस कॉलोनी:जीवन बना जहन्नुम

दूसरी तरफ कई वरिष्ठ आईपीएस ऑफिसर्स के आशियानों के लिए विख्यात अनीसाबाद की पुलिस कॉलोनी के लोगों का जीना भी कठिन हो गया है.आलम यह है कि एक एडीजी स्तर के एक रिटार्यड आईपीएस ऑफिसर ने डेवलपमेंट कमिशनर को फोन करके कहा है कि जल जमाव के कारण लोगों को काफी परेशानी है.उन्होंने विकास आयुक्त से आग्रह किया है कि सरकार इस तरह के संकट की घड़ी में प्रभावितों को रसद मुहैया कराये.

पिछले कुछ सालों में पटना में ताबड़तोड़ विकास तो हुआ है लेकिन बारिश के पानी की निकासी एक गंभीर समस्या बन कर उभरी है. पिछले तीन हफ्ते से पटना के कई इलाके जल जमाव के शिकार हैं. इनमें राजेंद्र नगर, कदम कुंआ, अनीसाबाद के कई इलाकों के अलावा मखनिया कुंआ के इलाके शामिल है.

पुलिस कॉलोनी कॉपरेटिव सोसाइटी की सचिव बीएन झा का कहना है कि उनकी कॉलोनी में जल जमाव की समस्या काफी गंभीर है.पिछले तीन-चार हफ्ते से लोग समस्या से जूझ रहे हैं लेकिन अभी तक नगर निगम या राज्य सरकार की तरफ से कोई खास पहल नहीं हुई है.

इन क्षेत्रों में जल जमाव की हालत कितनी गंभीर है इस बात का अंदाजा मुख्यमंत्री के उस बयान से लगाया जा सकता है जिसमें उन्होंने नगर निगम को नाकारा तक कह दिया. मुख्यमंत्री ने यहां तक कहा कि मेयर और निगम आयुक्त के तकरार के कारण पटना की हालत जहन्नुम जैसी हो गयी है.

हालांकि निगम ने पिछले कुछ दिनों में जल निकासी में सफलता हासिल भी की है लेकिन अब भी कई इलाके अभी भी प्रभावित हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*