हिरासत में सिंडेकेट बैंक के अध्यक्ष, 50 लाख की धोखाधड़ी का आरोप

सिंडीकेट बैंक के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक एस.के. जैन को 50 लाख की धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार करने के बाद सीबीआई हिरासत में भेज दिया गया हा.

इस मामले में जैन के अलावा सात अन्य को रविवार को चार दिन की रिमांड पर केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की हिरासत में भेज दिया गया.

सीबीआई ने जैन को कथित तौर पर भूषण स्टील के साथ 50 लाख रुपए की रिश्वत के मामले में गिरफ्तार किया था। कंपनी को ऋण विस्तार देने के एवज में इस रिश्वत पर बातचीत चल रही थी। कंपनी बैंक के कर्ज का भुगतान समय पर नहीं कर रही थी और करोड़ों रुपए की उसकी देनदारी थी। एफआईआर में कंपनी के उपाध्यक्ष नीरज सिंघल का भी नाम है लेकिन वह अभी भी फरार बताये जाते हैं.

प्रकाश इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक वेद प्रकाश अग्रवाल और निदेशक विपुल अग्रवाल, चार्टर्ड एकाउंटेंट पवन बंसल, विनीत और पुनीत गोधा (जैन के संबंधी), विजय पहुजा और पंकेज बंसल शामिल हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इन सभी को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। उसके बाद मजिस्ट्रेट ने उन्हें चार दिन की सीबीआई रिमांड पर भेज दिया।
जो कि तब से फरार हैं। आरोप है कि उन्होंने किसी पुरुषोत्तम टोटलानी के जरिये विनीत गोधा जो कि सिंडीकेट बैंक के सीएमडी जैन के रिश्तेदार हैं, को राशि का भुगतान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*