हैदराबाद से भी भयावह घटना लखनू के विश्वविद्यालय में: दलित छात्र पर जानलेवा हमला

हैदराबाद और जेएनयू की घटना से भी दर्दनाक हमला अब लखनऊ में सामने आया है जहां  बीबीए विश्वविद्यालय में पीएचडी कर रहे अनुसूचित जाति शोधार्थी पर जानलेवा हमला किया गया है.
 श्रेयत बौद्ध पर 20-25 लोगों ने जानलेवा हमला कर दिया। उनकी गर्दन को धारदार हथियार से काट दिया गया है।
 
घटना रविवार 20 अगस्त रात की है। श्रेयत ने हमलावरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है। हमले में श्रेयत को काफी गंभीर चोटें आई हैं। इस जानलेवा हमले के बाद बीबीएयू में हड़कंप मचा हुआ है।रात करीब 9 बजे 20-25 लोगों ने अचानक से उनपर हमला कर दिया। हमलावर ने लाठी, ईंट, पत्थरों से हमला किया।
श्रेयत का आरोप है कि प्रोफेसर कमल जायसवाल और उपेंद्र सिंह ने उनपर हमला करवाया है। श्रेयत बौद्ध ने इस जानलेवा हमले के बाद कहा है कि मुझे मार सकते हो, मेरी विचारधारा को नहीं।
मौत भी आ जाये पर बाबासाहेब की विचारधारा की लड़ाई लड़ना नहीं छोडूंगा। फुले-अंबेडकरी विचारधारा की बात करने पर मनुवादियों द्वारा मेरे ऊपर जानलेवा हमला कराया गया है।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*